लॉक डाउन का पालन कराने के लिए सड़क पर उतरे सीओ सदर, देखते ही धड़ाधड़ बंद होने लगी दुकानें

1594399035

महराजगंज : कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देख डीएम डॉ उज्जवल कुमार ने दुकानों को खुलने के समय में दो घंटे की कटौती की है। इस आदेश को लागू कराने के लिए शुक्रवार को सायं सात बजते ही सीओ सदर राजू कुमार साव कोतवाली की फोर्स के साथ सड़क पर उतर गए। उनके एक इशारे पर दुकानें धड़ाधड़ बंद होने लगी।देखते ही देखते शाम सात बजे ही रात दस बजे वाला सन्नाटा शहर में कायम हो गया। दुकानदार व लोगों का सहयोग देख सीओ ने कहा कि इसी तरह के सहयोग से कोरोना पर काबू जा सकता है।

Co Sadar Came Down On The Road To Observe The Lock Down The Shops Started Closing Soon After Seeing :

बिना मास्क शहर में निकलने वालों पर सीओ ने ठोंका जुर्माना
कोरोना महामारी से बचाव के लिए शासन ने बिना मास्क घर से बाहर निकलने को दंडनीय अपराध बना दिया है। पहले सौ सौ रुपए का जुर्माना लगाया जा रहा था। अब इसको बढ़ा कर पांच सौ रुपया कर दिया है। पर कुछ लोग ऐसे हैं जो बिना मास्क लगाए ही घर से बाहर निकल रहे हैं। ऐसे लोगों पर शुक्रवार को सीओ सदर राजू कुमार साव की निगाह टेढ़ी रही। जैसे ही कोई बिना मास्क लगाए नजर आ रहा था सीओ के इशारे पर पुलिस कर्मी रोक जुर्माना काट रहे थे। जुर्माना लगाने के बाद सीओ लोगों को समझा रहे थे कि खुद व परिवार के साथ अन्य मिलने जुलने वालों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए मास्क पहनें। मास्क ना हो तो गमछा या दुपट्टा से ही मुंह ढक कर निकलें। पर लगाएं अवश्य। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रहें। यह सभी लोगों को करना है। बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें।

55 घंटे का प्रतिबंध रात दस बजे से शुरू, गाइडलाइन का पालन करें सभी लोग: सीओ
सीओ सदर राजू कुमार साव ने बताया कि शासन के निर्देश पर शुक्रवार की रात दस बजे से 55 घंटे का लॉक डाउन वाला प्रतिबंध एक बार फिर शुरू हो रहा है। जिस तरह कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है उसको देखते हुए भलाई इसी में है कि शासन के गाइडलाइन का जिले का हर शख्स पालन करें। इस दौरान केवल जरूरी सामानों की दुकान ही पहले की लॉक डाउन की तरह खुलेंगी। अन्य सभी दुकान बंद रहेंगी। इसका उलंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

महराजगंज : कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देख डीएम डॉ उज्जवल कुमार ने दुकानों को खुलने के समय में दो घंटे की कटौती की है। इस आदेश को लागू कराने के लिए शुक्रवार को सायं सात बजते ही सीओ सदर राजू कुमार साव कोतवाली की फोर्स के साथ सड़क पर उतर गए। उनके एक इशारे पर दुकानें धड़ाधड़ बंद होने लगी।देखते ही देखते शाम सात बजे ही रात दस बजे वाला सन्नाटा शहर में कायम हो गया। दुकानदार व लोगों का सहयोग देख सीओ ने कहा कि इसी तरह के सहयोग से कोरोना पर काबू जा सकता है। बिना मास्क शहर में निकलने वालों पर सीओ ने ठोंका जुर्माना कोरोना महामारी से बचाव के लिए शासन ने बिना मास्क घर से बाहर निकलने को दंडनीय अपराध बना दिया है। पहले सौ सौ रुपए का जुर्माना लगाया जा रहा था। अब इसको बढ़ा कर पांच सौ रुपया कर दिया है। पर कुछ लोग ऐसे हैं जो बिना मास्क लगाए ही घर से बाहर निकल रहे हैं। ऐसे लोगों पर शुक्रवार को सीओ सदर राजू कुमार साव की निगाह टेढ़ी रही। जैसे ही कोई बिना मास्क लगाए नजर आ रहा था सीओ के इशारे पर पुलिस कर्मी रोक जुर्माना काट रहे थे। जुर्माना लगाने के बाद सीओ लोगों को समझा रहे थे कि खुद व परिवार के साथ अन्य मिलने जुलने वालों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए मास्क पहनें। मास्क ना हो तो गमछा या दुपट्टा से ही मुंह ढक कर निकलें। पर लगाएं अवश्य। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रहें। यह सभी लोगों को करना है। बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। 55 घंटे का प्रतिबंध रात दस बजे से शुरू, गाइडलाइन का पालन करें सभी लोग: सीओ सीओ सदर राजू कुमार साव ने बताया कि शासन के निर्देश पर शुक्रवार की रात दस बजे से 55 घंटे का लॉक डाउन वाला प्रतिबंध एक बार फिर शुरू हो रहा है। जिस तरह कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है उसको देखते हुए भलाई इसी में है कि शासन के गाइडलाइन का जिले का हर शख्स पालन करें। इस दौरान केवल जरूरी सामानों की दुकान ही पहले की लॉक डाउन की तरह खुलेंगी। अन्य सभी दुकान बंद रहेंगी। इसका उलंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।