कोयला घोटाला: दिल्ली हाईकोर्ट ने झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा की सजा पर लगाई रोक

नई दिल्ली। कोयला घोटाले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को दिल्ली हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। दिल्ली हाई कोर्ट ने अगली सुनवाई तक सीबीआई ट्रायल कोर्ट के ऑर्डर पर स्टे लगा दिया है। उन्हें 3 साल जेल के साथ जुर्माने की सजा सुनाई गई थी।

कोयला घोटाले में सजा पाए दोषियों में मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता, झारखंड के पूर्व मुख्य सचिव अशोक कुमार बसु, कोड़ा के करीबी विजय जोशी शामिल थे। कोर्ट ने प्राइवेट कंपनी विनी आयरन एंड स्टील उद्योग (वीआईएसयूएल) पर भी 50 लाख का जुर्माना ठोंका था। तब स्पेशल जज भरत पाराशर ने मधु कोड़ा पर 25 लाख और एचसी गुप्ता पर एक लाख का जुर्माना लगाया था। इससे पहले सीबीआई ने चार्जशीट में कोड़ा, गुप्ता समेत चारों दोषियों के खिलाफ 120बी (आपराधिक साजिश), 420 धोखाधड़ी, 409 (सरकारी पद पर रहते हुए विश्वासघात) और भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत आरोप लगाए थे।

{ यह भी पढ़ें:- कोयला घोटाला: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री समेत चार दोषी करार, गुरुवार को हो सकती है सजा }

गौरतलब है कि 16 दिसंबर, 2017 को ही सीबीआई की विशेष अदालत ने घोटाले के मुख्य आरोपी और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को इसी मामले में 3 साल की जेल की सजा सुनाई है। न्यायाधीश भरत पाराशर ने कोड़ा के करीबी और सहयोगी विजय जोशी, पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता और झारखंड के तत्कालीन मुख्य सचिव ए के बासु को भी 3-3 साल की जेल की सजा सुनाई।

{ यह भी पढ़ें:- ब्लू वेल: 'खूनी खेल' पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट ने दिखाई सख्ती }

Loading...