उप्र में हाड़कंपाऊ सर्दी, कोहरे की तीव्रता में भी इजाफा

लखनऊ। पर्वतीय अंचल के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जारी हिमपात के चलते प्रदेश के मैदानी इलाकों में हाड़कंपाऊ सर्दी बृहस्पतिवार को और बढ़ गयी। प्रदेश में सबसे कड़ाके की ठंड हरदोई में पड़ी। इसके अलावा मैनपुरी, लखनऊ, बरेली, अलीगढ़, गोरखपुर, सुलतानपुर, फुरसतगंज, मेरठ, कानपुर, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, इलाहाबाद, हमीरपुर, खीरी, बांदा, उरई, बलिया, फतेहगढ़ और शाहजहांपुर सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में भी कड़ाके की ठंड पड़ी। वाराणसी, इलाहाबाद, मुरादाबाद, उरई में प्रदेश में सबसे अधिक घना कोहरा पड़ा। कोहरे और धुंध के बीच चुभन भरी सर्द हवाओं से सड़कों और गली-नुक्कड़ों में लोगों की चहल-पहल कम हो गयी है।




मुजफ्फरनगर में न्यूनतम तापमान गिरकर सात डिग्री सेल्सियस और हरदोई में अधिकतम पारा 13.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। कोहरे और धुंध की वजह से दिन के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गयी। वाराणसी व सुलतानपुर सहित प्रदेश के अधिकतर इलाकों में दिन के अधिकतम तापमान में 8 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गयी। कोहरे और ठंड का असर रेल व सड़क यातायात पर भी साफ दिखायी पड़ा। मौसम विभाग के अनुसार अगले 48 घंटे में ठंड के तेवर और तल्ख होने के आसार हैं। इस अवधि में दिन और रात के तापमान में एक से तीन डिग्री सेल्सियस तक गिरावट का अनुमान है।




गलन के साथ-साथ कई क्षेत्रों में कोहरे की तीव्रता में भी इजाफा होने के आसार हैं। राजधानी लखनऊ में आज भी पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी का प्रभाव देखने को मिला। इस वजह से दो दिनों से रात्रि में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। राजधानी में सूर्य उगने के साथ ही इसका प्रभाव क्रमश: कम होने लगा, लेकिन शाम से ठंड बढ़ने का क्रम फिर शुरू हो गया।राजधानी में रात का न्यूनतम तापमान 10.3 और दिन का अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से क्रमश: 2 डिग्री अधिक व 7 डिग्री नीचे था। लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर लंबी दूरी की 49 ट्रेनें अपने निर्धारित समय से 36 घंटे तक के विलम्ब से होकर गुजरीं।