1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा स्तम्भकार अमित राजपूत ने विश्व पटल पर बढ़ाया भारत का मान

हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा स्तम्भकार अमित राजपूत ने विश्व पटल पर बढ़ाया भारत का मान

ब्रॉडकास्टर एवं स्तम्भकार अमित राजपूत ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लंदन के हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने अमित राजपूत के नाम विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार होने का रिकॉर्ड दर्ज किया है। इसी के साथ स्तम्भकार अमित राजपूत की ख्याति अंतर्राष्ट्रीय पटल पर फैल गयी है और उन्होंने दुनियाभर में भारत का मान बढ़ाया है।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

नई दिल्ली। ब्रॉडकास्टर एवं स्तम्भकार अमित राजपूत ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लंदन के हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने अमित राजपूत के नाम विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार होने का रिकॉर्ड दर्ज किया है। इसी के साथ स्तम्भकार अमित राजपूत(AMIT RAJPUT) की ख्याति अंतर्राष्ट्रीय पटल पर फैल गयी है और उन्होंने दुनियाभर में भारत का मान बढ़ाया है। दिलचस्प है कि आईआईएमसी के 2014-15 बैच से प्रशिक्षित पत्रकार अमित राजपूत को न सिर्फ़ हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने उन्हें दुनिया का सबसे युवा स्तम्भकार घोषित किया है, बल्कि इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड ने भी उनका नाम अपनी रिकॉर्ड (RECORD) बुक में दर्ज़ किया है।

पढ़ें :- Dr. RK Verma jeevan parichay : डॉ. आरके वर्मा अपना दल (सोनेलाल) के टिकट पर दूसरी बार चुने गए विधायक

इस तरह इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड तथा हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने वाले अमित राजपूत भारत और भारत के बाहर वैश्विक स्तर पर बतौर दुनिया के सबसे युवा स्तम्भकार (COLUMNIST) अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुए हैं। अमित राजपूत ने नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान से पत्रकारिता का प्रशिक्षण लेने के बाद अपने कॅरिअर की शुरुआत आकाशवाणी-दिल्ली में प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम ‘मन की बात’ के साथ की थी। आकाशवाणी में रहते हुए ही इन्होंने एफएम रेनबो इण्डिया(RAINBO INDIA) तथा एफएम गोल्ड में भी अपनी सेवाएँ दीं।

इसके साथ ही ये प्रसार भारती द्वारा आकाशवाणी व दूरदर्शन के बीच क्रॉस चैनल पब्लिसिटी व क्रॉस मीडिया पब्लिसिटी के गठित प्रोग्राम प्रमोशन यूनिट की स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य भी रहे। इसके बाद विभिन्न संस्थानों में पाँच वर्ष से अधिक समय से हाल ही तक अमित मेनस्ट्रीम मीडिया(MEDIA) में सक्रिय रहे, किन्तु इन दिनों वह स्वतंत्र लेखन में सक्रिय हैं। आकाशवाणी से इनका जुड़ाव आज भी विभिन्न कार्यक्रमों के लेखन (WRITER) मसलन रेडियो रूपक, प्रोमो व नाट्य-लेखन आदि के जरिए लगातार बना हुआ है।

उत्तर प्रदेश के जनपद-फतेहपुर के कस्बा खागा(KHAGA) में जन्में अमित राजपूत की ब्रॉडकास्टर व स्तम्भकार के अलावा एक संवेदनशील लेखक और नाटककार के रूप में भी पहचान है। अंतर्वेद प्रवर, जान है तो जहान है, आरोपित एकांत तथा हाल ही में प्रकाशित हुई- कोरोनानामा इनकी चर्चित पुस्तकें हैं। रंगकर्म में गहरी दिलचस्पी रखने वाले विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार अमित राजपूत का नाटक- अनिरुद्ध अपने मंचन से पूर्व ही लगातार चर्चा में बना हुआ है। अमित के नाम विश्व रिकॉर्ड(WORLD RECORD) कायम होने से आईआईएमसी परिवार ने ख़ुशी जताई है।

पढ़ें :- CM योगी ने गोण्डा को दिया तोहफा, 1132.35 करोड़ की 144 विकास परियोजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...