सराहनीय कदम: प्रवासाी मजदूरों के खाते में योगी सरकार ने भेजा 1000-1000 रुपए, 10 लाख को मिला लाभ

cm yogi
योगी सरकार का सराहनीय फैसला: अब मृतक आश्रित कोटे से विवाहित बेटी को भी मिल सकेगी नौकरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत दी है। शनिवार को सरकार ने 10 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों के खाते में 1000 रुपये की धनराशि भेजी है। यह रुपये सीएम योगी ने सीधे बैंक ट्रांसफर (DBT) के तहत 10 लाख 48 हजार 166 (10,48,166) लाभार्थियों को पैसा भेजा। योगी सरकार की इस योजना के तहत कुल 104 करोड़ 82 लाख रुपये आज ऑनलाइन ट्रांसफर किए गए।

Commendable Step Yogi Government Sent 1000 1000 Rupees In The Account Of Migrant Laborers 10 Lakh Got Benefits :

कार्यक्रम के दौरान श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और राजस्व एवं बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री विजय कश्यप मौजूद रहे। प्रवासी मजदूरों को राहत देने के बाद सीएम योागी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कई मजदूरों से भी बातचीत की है। सीएम ने उन्हें आवश्वासन दिया है ​कि क्वारेंटाइन पूरा होने के बाद उन्हें कार्य दिया जायेगा। सीएम योगी ने कहा कि यूपी में अब तक 35 लाख कामगारों और श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने और सुविधाएं उपलब्ध कराने का काम किया गया।

लॉकडाउन शुरू होते ही रोज 12 से 15 लाख लोगों तक भोजन पहुंचाने की व्यवस्था की गई। सीएम ने कहा कि इसी कड़ी में प्रदेश के 35 लाख प्रवासी कामगारों और श्रमिकों में राशन किट उपलब्ध कराने के साथ ही उन्हें 1000 रुपए भत्ता उपलब्ध कराने का कार्य हो रहा है।

सीएम ने कहा कि पहले चरण में 10,48,166 प्रवासी मजदूरों को 1000 रुपए सीधे बैंक में ट्रांसफर किए जा रहे हैं। बाकी के भी जल्द से जल्द बैंक एकाउंट डिटेल जुटाने का काम हो रहा है। सीएम ने कहा कि हमारे सामने बहुत बड़ी चुनौती थी। लेकिन टीम वर्क के परिणाम सामने आए हैं। सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर उत्तर प्रदेश में आए लेकिन कहीं भी असुविधा नहीं हुई।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत दी है। शनिवार को सरकार ने 10 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों के खाते में 1000 रुपये की धनराशि भेजी है। यह रुपये सीएम योगी ने सीधे बैंक ट्रांसफर (DBT) के तहत 10 लाख 48 हजार 166 (10,48,166) लाभार्थियों को पैसा भेजा। योगी सरकार की इस योजना के तहत कुल 104 करोड़ 82 लाख रुपये आज ऑनलाइन ट्रांसफर किए गए। कार्यक्रम के दौरान श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और राजस्व एवं बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री विजय कश्यप मौजूद रहे। प्रवासी मजदूरों को राहत देने के बाद सीएम योागी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कई मजदूरों से भी बातचीत की है। सीएम ने उन्हें आवश्वासन दिया है ​कि क्वारेंटाइन पूरा होने के बाद उन्हें कार्य दिया जायेगा। सीएम योगी ने कहा कि यूपी में अब तक 35 लाख कामगारों और श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने और सुविधाएं उपलब्ध कराने का काम किया गया। लॉकडाउन शुरू होते ही रोज 12 से 15 लाख लोगों तक भोजन पहुंचाने की व्यवस्था की गई। सीएम ने कहा कि इसी कड़ी में प्रदेश के 35 लाख प्रवासी कामगारों और श्रमिकों में राशन किट उपलब्ध कराने के साथ ही उन्हें 1000 रुपए भत्ता उपलब्ध कराने का कार्य हो रहा है। सीएम ने कहा कि पहले चरण में 10,48,166 प्रवासी मजदूरों को 1000 रुपए सीधे बैंक में ट्रांसफर किए जा रहे हैं। बाकी के भी जल्द से जल्द बैंक एकाउंट डिटेल जुटाने का काम हो रहा है। सीएम ने कहा कि हमारे सामने बहुत बड़ी चुनौती थी। लेकिन टीम वर्क के परिणाम सामने आए हैं। सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर उत्तर प्रदेश में आए लेकिन कहीं भी असुविधा नहीं हुई।