Clash: मामूूली बात पर आगरा में दो समुदाय के बीच टकराव, पथराव और फायरिंग भी

a

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद के मंटोला के टीला नंदराम में रविवार रात सांप्रदायिक बवाल हो गया। इसकी वजह रही अनुसूचित जाति की बस्ती के युवक प्रमोद को मुंडापाड़ा में टांग अड़ाकर गिरा दिया जाना। आरोप दूसरे समुदाय के लोगों पर लगा। दोनों ओर से लोग इक_ा हो गए। इसके बाद पथराव हुआ फायरिंग हुई बोतलें भी फेंकी गईं। पथराव में दस लोग घायल हो गए। भारी तनाव बना है। छह थानों की फोर्स तैनात की गई है।

Communal Violence In Agra :

प्रमोद मुंडापाड़ा में आरओ प्लांट से पानी लेने गया था। वह पानी लेकर घर आ रहा था। आरोप है कि दूसरे समुदाय के युवक ने टांग अड़ाकर उसे गिरा दिया। वह वहां से आकर परिवार के लोगों को लेकर पहुंचा तो उधर से बल्लू, अकरमए यूसुफ, शेरा और मजीद समेत सैकड़ों लोग आ गए। उन्होंने अनुसूचित जाति की बस्ती पर हमला बोल दिया। उधर मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि पथराव दोनों ओर से हुआ।

अकरम, शेरा पक्ष की ओर से बोतलें भी फेंकी गईं और फायर भी किए गए। पथराव में प्रमोद पक्ष के अरुण प्रसाद, धीरज, प्रमोद, चंद्रा देवी, प्रेम चंद घायल हो गए। पुलिस के पहुंचने पर बलवाई भाग गए। कई घरों पर ताले लटके मिले। मुंडापाड़ा में पूरी सड़क पत्थरों और कांच से पट गई थी।

प्रमोद ने बताया कि उनके परिवार के तीन घर हैं। तीनों में तोडफ़ोड़ की गई है। उधर तनाव को देखते हुए छत्ता से लेकर सदर सर्किल तक की फोर्स तैनात की गई है। बलवे में शामिल रहे लोगों की पहचान की जा रही है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दस लोगों के नाम मिल चुके हैं। एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने बताया कि किसी भी पक्ष से तहरीर नहीं आई है। हमलावरों की तलाश की जा रही है। पुलिस अपनी ओर से केस दर्ज करेगी। एहतियातन फोर्स तैनात कर दी गई है।

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद के मंटोला के टीला नंदराम में रविवार रात सांप्रदायिक बवाल हो गया। इसकी वजह रही अनुसूचित जाति की बस्ती के युवक प्रमोद को मुंडापाड़ा में टांग अड़ाकर गिरा दिया जाना। आरोप दूसरे समुदाय के लोगों पर लगा। दोनों ओर से लोग इक_ा हो गए। इसके बाद पथराव हुआ फायरिंग हुई बोतलें भी फेंकी गईं। पथराव में दस लोग घायल हो गए। भारी तनाव बना है। छह थानों की फोर्स तैनात की गई है। प्रमोद मुंडापाड़ा में आरओ प्लांट से पानी लेने गया था। वह पानी लेकर घर आ रहा था। आरोप है कि दूसरे समुदाय के युवक ने टांग अड़ाकर उसे गिरा दिया। वह वहां से आकर परिवार के लोगों को लेकर पहुंचा तो उधर से बल्लू, अकरमए यूसुफ, शेरा और मजीद समेत सैकड़ों लोग आ गए। उन्होंने अनुसूचित जाति की बस्ती पर हमला बोल दिया। उधर मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि पथराव दोनों ओर से हुआ। अकरम, शेरा पक्ष की ओर से बोतलें भी फेंकी गईं और फायर भी किए गए। पथराव में प्रमोद पक्ष के अरुण प्रसाद, धीरज, प्रमोद, चंद्रा देवी, प्रेम चंद घायल हो गए। पुलिस के पहुंचने पर बलवाई भाग गए। कई घरों पर ताले लटके मिले। मुंडापाड़ा में पूरी सड़क पत्थरों और कांच से पट गई थी। प्रमोद ने बताया कि उनके परिवार के तीन घर हैं। तीनों में तोडफ़ोड़ की गई है। उधर तनाव को देखते हुए छत्ता से लेकर सदर सर्किल तक की फोर्स तैनात की गई है। बलवे में शामिल रहे लोगों की पहचान की जा रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि दस लोगों के नाम मिल चुके हैं। एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने बताया कि किसी भी पक्ष से तहरीर नहीं आई है। हमलावरों की तलाश की जा रही है। पुलिस अपनी ओर से केस दर्ज करेगी। एहतियातन फोर्स तैनात कर दी गई है।