1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. कंपनियों को भी रास आ रहा बाबा का ढाबा, विज्ञापनों का लगा जमावड़ा

कंपनियों को भी रास आ रहा बाबा का ढाबा, विज्ञापनों का लगा जमावड़ा

Companies Are Also Getting Babas Dhaba Advertisements Gathered

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर बीते हफ्ते एक बुजुर्ग कपल का वीडियो (Delhi Viral Baba ka dhaba Video) तेजी से वायरल हुआ। वीडियो में दिल्ली के मालवीय नगर स्थित बाबा के ढाबे को चलाने वाले कांता प्रसाद के रोते हुए चेहरे को देखकर कई लोग उनकी मदद के लिए आगे आए। इस वीडियो के वायरल होने के बाद सैकड़ों लोग रोज उनके यहां खाना खा रहे हैं। जिसके बाद वो काफी खुश हैं। इतना ही नहीं बाबा का ढाबा जोमैटो पर भी लिस्टेड हो गया है, यानी आप ऑर्डर करके वहां से खाना मंगा सकते हैं। वहीं कई कंपनियां भी विज्ञापन के लिए पहुंच गई हैं।

पढ़ें :- जब बच्चे को पापा का मास्क नहीं आया पसंद, फिर किया कुछ ऐसा कि .... VIDEO

बाबा का ढाबा पर नहीं बची विज्ञापन के लिए जगह
दरअसल बाबा के ढाबे पर कई कंपनियों ने अपने इश्तहार लगा दिए हैं। इतने बैनर हैं कि अब कोई जगह खाली नहीं है। इतना ही नहीं कुछ टेंपररी काउंटर, जैसे कोविड इंश्योरेस का काउंटर भी ढाबे के पास दिख रहा है। कांता प्रसाद भी इससे खुश हैं, वो कहते हैं कि विज्ञापन भी है और इससे कमाई भी हो रही है।

‘मुझे पैसे से मदद की अब जरूरत नहीं’
कांता प्रसाद का ये भी कहना है कि अब उन्हें पैसे की जरूरत नहीं है। वो कहते हैं कि पहले एक किलो चावल भी रोज वो नहीं बेच पा रहे थे। अब 5 किलो चावल आधा दिन में बेच रहे है। वो कहते हैं कि कई और लोगों को भी मदद की जररूत है, ऐसे मे उनकी भी मदद हो, उनको अब पैसे की जरूरत नहीं है।

आर्थिक तंगी से परेशान बुजुर्ग कैमरे पर रोने लगे
सोशल मीडिया पर बुधवार को ट्विटर पर एक बुजुर्ग कपल का वीडियो वायरल (Delhi Viral Baba ka dhaba Video) हुआ, जिसके मुताबिक, वे मालवीय नगर में एक ढाबा चलाते हैं। लेकिन काम इतना मंदा चल रहा है कि बुजुर्ग कैमरे के सामने रोने लगा। उनके आंसू देखकर बहुतों का दिल पसीज गया और अब देशभर से लोग इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इनमें कई बड़े नाम भी शामिल हैं। और हां, सबसे खूबसूरत बात ये कि बहुत से लोग तो ‘बाबा का ढाबा’ पर पहुंच भी चुके हैं, जिसके कारण एक बार फिर इस कपल के चेहरे पर मुस्कान आ गई है। ढाबे में जब भीड़ लग गई तो उन्होंने एक बात कही जोकि लोगों के दिल को छू गई।

कौन हैं कांता प्रसाद
‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाले बुजुर्ग का नाम कांता प्रसाद है और पत्नी का नाम बादामी देवी है। ये दोनों कई सालों से मालवीय नगर में अपनी छोटी सी दुकान लगाते हैं। दोनों की उम्र 80 वर्ष से ज्यादा है। कांता प्रसाद बताते हैं कि उनके दो बेटे और एक बेटी है। लेकिन तीनों में से कोई उनकी मदद नहीं करता है। वो सारा काम खुद ही करते हैं और ढाबा भी अकेले ही चलाते हैं। कांता प्रसाद पत्नी की मदद से सारा काम करते हैं। वो सुबह 6 बजे आते हैं और 9 बजे तक पूरा खाना तैयार कर देते हैं। रात तक वो दुकान पर ही रहते हैं। लॉकडाउन के पहले लोग यहां खाना खाने आया करते थे। लेकिन लॉकडाउन के बाद उनकी दुकान पर कोई नहीं आता है। इतना कहकर वो रोने लगते हैं।

पढ़ें :- जब शख्स ने फेका फेस मास्क, चोंच में उठा चिड़िया करने लगी कुछ ऐसा... VIDEO

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...