कंपनियों ने ऑफिस में महिलाओं के चश्मा पहनने पर बैन लगाया, कहा- सुंदरता पर असर पड़ता है

girl
कंपनियों ने ऑफिस में महिलाओं के चश्मा पहनने पर बैन लगाया, कहा- सुंदरता पर असर पड़ता है

नई दिल्ली। अमूमन ऑफिस में कंप्यूटरों पर लंबे समय तक काम करने वाले लोग चश्मा पहनते ही हैं। लेकिन जापान में कई कंपनियों ने महिलाकर्मियों के ऑफिस में चश्मा पहनकर आने पर बैन लगा दिया है। इस बैन की वजह विवाद में आ गई है। दरअसल, कंपनियों का कहना है, कार्यस्थल पर जब महिलाएं चश्मा पहनकर आती हैं, तो इससे उनकी सुंदरता पर प्रभाव पड़ता है, जिससे क्लाइंट्स पर गलत असर पड़ता है और कंपनियों का कारोबार प्रभावित होता है।  

Companies Ban Women Wearing Glasses In Office Said Beauty Affects :

कंपनी के अनुसार इससे कम होती है सुंदरता

प्राइवेट कंपनियों का मानना है कि इससे महिलाओं की सुंदरता पर प्रभाव पड़ता है। क्लाइंट्स पर गलत असर होता है, जिसके कारण उनका बिजनेस प्रभावित होता है। वहीं जापान की एक कंपनी ने तो महिलाओं के लिए मेकअप करना भी अनिवार्य  कर दिया है। इतना ही नहीं, कंपनी ने यह निर्देश भी दिया है कि महिलाएं अपना वजन कम करें ताकि वो आकर्षक बनी रहें।

सैंडल पहनकर ऑफिस आना अनिवार्य कर दिया  

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले जापानी कंपनियों ने महिला कर्मचारियों के लिए ऊंची एड़ी की सैंडल पहनकर ऑफिस आना अनिवार्य कर दिया था। इसके खिलाफ महिलाएं सोशल मीडिया #kutoo के जरिए अपना विरोध पहले ही जता चुकी हैं। यहां तक कि मामला बढ़ता देख जापान के श्रम मंत्रालय ने एक नियम बनाया, जिससे कंपनियों की ऐसी मनमानी पर रोक लगाया जा सके।

कुछ लोगों का कहना है कि यह बैन स्पष्ट करता है कि कंपनियों को महिलाकर्मियों के काम से फर्क नहीं पड़ता, बल्कि उनकी खूबसूरती से जरूर पड़ता है। बड़ी हैरानी होती है, यह सोचकर कि आज के जमाने में भी कुछ लोग बस महिलाओं की प्रतिभा को उनकी खूबसूरती से आंकते हैं, उनके दिमाग से नहीं। वैसे जापान में इस तरह के फरमान कोई नई बात नहीं हैं।

जापान में हाई हील पहनने का फरमान जारी हो चुका है

इससे पहले भी जापान के फ्यूनरल पार्लर(मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव को तैयार करने वाली जगह) में काम करने वाली महिलाओं के लिए हाई हील पहनने का फरमान जारी हुआ था, जिसके बाद एक अभिनेत्री ने एक ऑनलाइट पिटीशन दायर कर विरोध जाहिर किया था। वहीं, एक कंपनी ने महिला कर्मियों को वजन कम करने का निर्देश दिया है। कंपनी ने सभी महिला कर्मचारियों को मेकअप करके ही दफ्तर आने के लिए कहा है।

नई दिल्ली। अमूमन ऑफिस में कंप्यूटरों पर लंबे समय तक काम करने वाले लोग चश्मा पहनते ही हैं। लेकिन जापान में कई कंपनियों ने महिलाकर्मियों के ऑफिस में चश्मा पहनकर आने पर बैन लगा दिया है। इस बैन की वजह विवाद में आ गई है। दरअसल, कंपनियों का कहना है, कार्यस्थल पर जब महिलाएं चश्मा पहनकर आती हैं, तो इससे उनकी सुंदरता पर प्रभाव पड़ता है, जिससे क्लाइंट्स पर गलत असर पड़ता है और कंपनियों का कारोबार प्रभावित होता है।   कंपनी के अनुसार इससे कम होती है सुंदरता प्राइवेट कंपनियों का मानना है कि इससे महिलाओं की सुंदरता पर प्रभाव पड़ता है। क्लाइंट्स पर गलत असर होता है, जिसके कारण उनका बिजनेस प्रभावित होता है। वहीं जापान की एक कंपनी ने तो महिलाओं के लिए मेकअप करना भी अनिवार्य  कर दिया है। इतना ही नहीं, कंपनी ने यह निर्देश भी दिया है कि महिलाएं अपना वजन कम करें ताकि वो आकर्षक बनी रहें। सैंडल पहनकर ऑफिस आना अनिवार्य कर दिया   ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले जापानी कंपनियों ने महिला कर्मचारियों के लिए ऊंची एड़ी की सैंडल पहनकर ऑफिस आना अनिवार्य कर दिया था। इसके खिलाफ महिलाएं सोशल मीडिया #kutoo के जरिए अपना विरोध पहले ही जता चुकी हैं। यहां तक कि मामला बढ़ता देख जापान के श्रम मंत्रालय ने एक नियम बनाया, जिससे कंपनियों की ऐसी मनमानी पर रोक लगाया जा सके। कुछ लोगों का कहना है कि यह बैन स्पष्ट करता है कि कंपनियों को महिलाकर्मियों के काम से फर्क नहीं पड़ता, बल्कि उनकी खूबसूरती से जरूर पड़ता है। बड़ी हैरानी होती है, यह सोचकर कि आज के जमाने में भी कुछ लोग बस महिलाओं की प्रतिभा को उनकी खूबसूरती से आंकते हैं, उनके दिमाग से नहीं। वैसे जापान में इस तरह के फरमान कोई नई बात नहीं हैं। जापान में हाई हील पहनने का फरमान जारी हो चुका है इससे पहले भी जापान के फ्यूनरल पार्लर(मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव को तैयार करने वाली जगह) में काम करने वाली महिलाओं के लिए हाई हील पहनने का फरमान जारी हुआ था, जिसके बाद एक अभिनेत्री ने एक ऑनलाइट पिटीशन दायर कर विरोध जाहिर किया था। वहीं, एक कंपनी ने महिला कर्मियों को वजन कम करने का निर्देश दिया है। कंपनी ने सभी महिला कर्मचारियों को मेकअप करके ही दफ्तर आने के लिए कहा है।