1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. पारस हॉस्पिटल प्रकरण पर अभी पूरी जांच होना बाकी , दोषी मिला तो होगी कार्रवाई : डॉ. दिनेश शर्मा

पारस हॉस्पिटल प्रकरण पर अभी पूरी जांच होना बाकी , दोषी मिला तो होगी कार्रवाई : डॉ. दिनेश शर्मा

आगरा जिले के श्री पारस अस्पताल प्रकरण पर यूपी के उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शुक्रवार को बड़ा बयान दिया है। उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी द्वारा अभी सतही जांच रिपोर्ट जारी की गई है। मामले की पूरी जांच अभी बाकी है। बता दें कि अस्पताल का लाइसेंस निलंबित हो चुका है और एफआईआर दर्ज की गई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। आगरा जिले के श्री पारस हॉस्पिटल प्रकरण पर यूपी के उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शुक्रवार को बड़ा बयान दिया है। उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी द्वारा अभी सतही जांच रिपोर्ट जारी की गई है। मामले की पूरी जांच अभी बाकी है। बता दें कि हॉस्पिटल का लाइसेंस निलंबित हो चुका है और एफआईआर दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि आगे भी कठोर कार्रवाई होगी। इस दौरान पूरी जांच कब तक होगी? इस सवाल पर उप-मुख्यमंत्री ने कहा इसका जवाब जिलाधिकारी देंगे। उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि मनमानी वसूली करने वाले कोविड अस्पतालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।

पढ़ें :- मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में डकैती: पांच बदमाशों ने की थी वारदात, 7.5 किलो सोना व नकदी बरामद

उप-मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच अभी खत्म नहीं होने और पूरी जांच होने के बाद कार्रवाई की बात कही

बता दें कि विगत 18 जून को प्रशासन ने हॉस्पिटल संचालक को क्लीन चिट दे दी। जिसके बाद जांच सवालों के कठघरे खड़ी है। शुक्रवार को सर्किट हाउस में उप-मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच अभी खत्म नहीं होने और पूरी जांच होने के बाद कार्रवाई की बात कही।

हॉस्पिटल संचालक डॉ. अरिंजय जैन को डीएम ने मामले में पूरी तरह क्लीन चिट दिया है। इस मामले में जनप्रतिनिधियों ने सवाल उठाए हैं। मामले की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करने की बात कही है। बता दें कि जांच रिपोर्ट में 16 लोगों की मौत स्वीकार की गई, लेकिन अस्पताल संचालक को मामले में जिम्मेदार नहीं माना गया है। डीएम की रिपोर्ट में पीड़ित के बयानों का कहीं भी ज़िक्र नहीं नहीं है। अरिंजय जैन के बयान के आधार पर एकतरफा रिपोर्ट तैयार करने के आरोप लगे हैं। बताया जा रहा है कि ज़िलाधिकारी आगरा ने जांच रिपोर्ट आने से पहले ही संचालक को क्लीनचिट देने के संकेत दे दिए थे।

माॅक-ड्रिल में गई थी जानें

पढ़ें :- यूपी में 19 जुलाई से खुल सकता है कक्षा 9 से 12 के स्‍कूल, ये है अपडेट

बता दें कि श्री पारस हॉस्पिटल के एक वायरल वीडियो से हड़कंप मच गया था। इस वीडियो में हास्पिटल में ऑक्सीजन संकट में मॉक ड्रिल से पांच मिनट में 22 गंभीर मरीजों की मौत की बात कही जा रही थी। वीडियो में हॉस्पिटल संचालक के सामने एक शख्स बोलता है कि 22 लोग मर गए थे। यह पूरी बातचीत 26/27 अप्रैल को सामने आए ऑक्सीजन संकट के संदर्भ में थी। श्री पारस अस्पताल में मॉक ड्रिल बीते 26 अप्रैल, 2021 की सुबह सात बजे की गई थी। इस वक्त अस्पताल में 96 कोरोना मरीज भर्ती थे। जिनमें से केवल 74 मरीज जिंदा बचे। अस्पताल के संचालक डॉ. अरिन्जय जैन के चार वीडियो वायरल हुए हैं, जिनमें वह ऑक्सीजन के बड़े संकट वाले दिन का किस्सा बयां कर रहे हैं। इसे लेकर हंगामा खड़ा होने पर हॉस्पिटल संचालक वीडियो को तोड़मरोड़ कर वायरल करने की बात कही थी।

वहीं पुलवामा के शहीद कौशल किशोर के परिवार के धरने पर बैठने के मामले में उन्होंने कहा कि सरकार जितना हो सकता था उतनी सहायता राशि दे चुकी है। जिलाधिकारी को शहीद के नाम पर द्वार बनवाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा अगर परिवार हमसे शहीद प्रतिमा का अनावरण कराना चाहता है तो हमें आमंत्रित करे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...