केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस को बताया घोटाला पार्टी और आप को अवैध आमदनी पार्टी

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने शुक्रवार को कांग्रेस और आप पर निशाना साधते हुए कहा कि एमसीडी चुनावों के बाद सत्ता की लोभी ये दोनों पार्टियां फिर से हाथ मिला सकती हैं। गोयल ने कहा कि असली मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है, जबकि 272 वार्ड वाले एमसीडी चुनावों के बाद आप तीसरे पायदान पर रहेगी। दिल्ली में 23 अप्रैल को एमसीडी चुनाव होने हैं।




पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए विजय गोयल ने कहा कि दोनों एक ही किस्म की पार्टियां हैं। अगर वे अकेले अपने दम पर कुछ नहीं कर सकीं तो जिस तरह से उन्होंने वर्ष 2013 में दिल्ली में सरकार बनाने के लिये किया था, वैसे ही सत्ता के लोभ में वे नगर निगमों में शासन के लिये भी हाथ मिला सकती हैं।

Congress Aap Can Again Join Hands For Power Bjp Leader Vijay Goe :

मंत्री ने भ्रष्टाचार के कई आरोपों का हवाला देते हुए कहा कि शुंगलू समिति की रिपोर्ट में आप का पर्दाफाश हुआ है कि वह भ्रष्टाचार विरोध का मुद्दा उठाकर सत्ता में आयी। उन्होंने आरोप लगाया कि शुंगलू समिति की रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस अब केजरीवाल पर निशाना साध रही है लेकिन वह खुद उसमें शामिल थी। उन्होंने कहा कि दोनों एक दूसरे से कुछ खास अलग नहीं हैं और दोनों पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं।




कांग्रेस एक घोटाला पार्टी है जबकि आप अवैध आमदनी पार्टी है।विजय गोयल का कांग्रेस पर वारद2011 में पानी मीटर घोटाला हुआ। क्या यह सत्य नहीं है कि उस समय शीला दीक्षित के चैयरमेन रहते हुए 48 करोड़ रपए के ढाई लाख नॉन एएमआर मीटर की खरीद हुई और टेंडर के नियम बदले गए।

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने शुक्रवार को कांग्रेस और आप पर निशाना साधते हुए कहा कि एमसीडी चुनावों के बाद सत्ता की लोभी ये दोनों पार्टियां फिर से हाथ मिला सकती हैं। गोयल ने कहा कि असली मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है, जबकि 272 वार्ड वाले एमसीडी चुनावों के बाद आप तीसरे पायदान पर रहेगी। दिल्ली में 23 अप्रैल को एमसीडी चुनाव होने हैं। पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए विजय गोयल ने कहा कि दोनों एक ही किस्म की पार्टियां हैं। अगर वे अकेले अपने दम पर कुछ नहीं कर सकीं तो जिस तरह से उन्होंने वर्ष 2013 में दिल्ली में सरकार बनाने के लिये किया था, वैसे ही सत्ता के लोभ में वे नगर निगमों में शासन के लिये भी हाथ मिला सकती हैं।मंत्री ने भ्रष्टाचार के कई आरोपों का हवाला देते हुए कहा कि शुंगलू समिति की रिपोर्ट में आप का पर्दाफाश हुआ है कि वह भ्रष्टाचार विरोध का मुद्दा उठाकर सत्ता में आयी। उन्होंने आरोप लगाया कि शुंगलू समिति की रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस अब केजरीवाल पर निशाना साध रही है लेकिन वह खुद उसमें शामिल थी। उन्होंने कहा कि दोनों एक दूसरे से कुछ खास अलग नहीं हैं और दोनों पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। कांग्रेस एक घोटाला पार्टी है जबकि आप अवैध आमदनी पार्टी है।विजय गोयल का कांग्रेस पर वारद2011 में पानी मीटर घोटाला हुआ। क्या यह सत्य नहीं है कि उस समय शीला दीक्षित के चैयरमेन रहते हुए 48 करोड़ रपए के ढाई लाख नॉन एएमआर मीटर की खरीद हुई और टेंडर के नियम बदले गए।