कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन की उम्मीद कायम, बैठक के बाद होगा फैसला

rahul ghandi
कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन की उम्मीद कायम, बैठक के बाद होगा फैसला

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के तारीखों की घोषणा हुए करीब दो सप्ताह हो गया हैै। लेकिन दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर चल रही चर्चा का कोई हल नहीं निकला है। हालांकि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर अभी भी बातचीत जारी है। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी आज पार्टी नेताओं के साथ दिल्ली में बैठक करने जा रहे हैं। इस बैठक में गठबंधन को लेकर फैसला लिया जा सकता है।

Congress Aap Hope For Coalition Will Decide After Meeting :

वहीं कुछ दिनों पूर्व आम आदमी पार्टी के प्रमुख व दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने गठबंधन के फैसले को लेकर राहुल गांधी पर निशाना भी साधा था। दिल्ली में लोकसभा की सात सीटों पर कांग्रेस और आप में गठबंधन को लेकर पेंच फंसा हुआ है। दिल्ली प्रदेश कार्यालय में भी चुनावी गतिविधियां ठप सी पड़ी हुई हैं।

दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे और गठबंधन को लेकर पेंच फंसा हुआ है। हालांकि कुछ दिनों पहले आम आदमी पार्टी ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा भी कर दी थी। वहीं, दिल्ली कांग्रेस के इनचार्ज पीसी चाको ने कहा कि सोमवार शाम तक हम गठबंधन को लेकर कोई सकारात्मक बात सुन सकते हैं। राहुल गांधी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने जा रहे हैं। उम्मीद है कि कुछ फैसला लिया जाएगा।

बतातें चलें कि आम आदमी पार्टी दिल्ली में पांच और दो सीटों के फॉर्मूले पर जोर दे रही है। पार्टी खुद के लिए पांच और कांग्रेस को दो सीटें देने की बात कह रही है। लेकिन कांग्रेस की डिमांड 3:3:1 की है। पार्टी आप और कांग्रेस के बीच तीन तीन सीटों के बंटवारे की बात कह रही है।

वहीं, बाकी की एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार उतारने को कह रही है। बताया जा रहा है कि आज होने वाली बैठक में दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित व दिल्ली के तीनों कार्यकारी अध्यक्ष व अन्य नेता भी इस बैठक में शामिल होंगे।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के तारीखों की घोषणा हुए करीब दो सप्ताह हो गया हैै। लेकिन दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर चल रही चर्चा का कोई हल नहीं निकला है। हालांकि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर अभी भी बातचीत जारी है। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी आज पार्टी नेताओं के साथ दिल्ली में बैठक करने जा रहे हैं। इस बैठक में गठबंधन को लेकर फैसला लिया जा सकता है।

वहीं कुछ दिनों पूर्व आम आदमी पार्टी के प्रमुख व दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने गठबंधन के फैसले को लेकर राहुल गांधी पर निशाना भी साधा था। दिल्ली में लोकसभा की सात सीटों पर कांग्रेस और आप में गठबंधन को लेकर पेंच फंसा हुआ है। दिल्ली प्रदेश कार्यालय में भी चुनावी गतिविधियां ठप सी पड़ी हुई हैं।

दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे और गठबंधन को लेकर पेंच फंसा हुआ है। हालांकि कुछ दिनों पहले आम आदमी पार्टी ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा भी कर दी थी। वहीं, दिल्ली कांग्रेस के इनचार्ज पीसी चाको ने कहा कि सोमवार शाम तक हम गठबंधन को लेकर कोई सकारात्मक बात सुन सकते हैं। राहुल गांधी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने जा रहे हैं। उम्मीद है कि कुछ फैसला लिया जाएगा।

बतातें चलें कि आम आदमी पार्टी दिल्ली में पांच और दो सीटों के फॉर्मूले पर जोर दे रही है। पार्टी खुद के लिए पांच और कांग्रेस को दो सीटें देने की बात कह रही है। लेकिन कांग्रेस की डिमांड 3:3:1 की है। पार्टी आप और कांग्रेस के बीच तीन तीन सीटों के बंटवारे की बात कह रही है।

वहीं, बाकी की एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार उतारने को कह रही है। बताया जा रहा है कि आज होने वाली बैठक में दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित व दिल्ली के तीनों कार्यकारी अध्यक्ष व अन्य नेता भी इस बैठक में शामिल होंगे।