जज मुरलीधर के तबादले पर भड़की कांग्रेस, प्रियंका बोलीं-न्याय का मुंह बंद करना चाहती है सरकार

priyanka gandhi
जज मुरलीधर के तबादले पर भड़की कांग्रेस, प्रियंका बोलीं-न्याय का मुंह बंद करना चाहती है सरकार

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले को लेकर राजनीति तेज हेा गयी है। कांग्रेस इसको लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर लगातर सवाल उठा रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसे शर्मनाक बताया है। वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट कर जस्टिस लोया को याद किया।

Congress Angry Over The Transfer Of Judge Muralidhar Priyanka Said Government Wants To Shut The Face Of Justice :

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, मौजूदा मामले को देखते हुए जस्टिस एस मुरलीधर का तबादला चौंकाने वाला नहीं है, बल्कि यह दुखद और शर्मनाक है। उन्होंने आगे कहा कि लाखों भारतीयों को एक न्यायप्रिय और ईमानदार न्यायपालिका में विश्वास है, न्याय और जनता का विश्वास तोड़ने का सरकार का प्रयास दुस्साहसी है।

वहीं, राहुल गांधी ने कहा ट्वीट कर कहा है कि जज लोया को याद कर रहा हूं, उनका तबादला नहीं हुआ था। दरअसल, मुरलीधर को पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय में तबादला किया गया है। उन्होंने दिल्ली हिंसा के मामले पर सुनवाई की थी।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेलवाला ने आरोप लगाया कि कई बीजेपी नेताओं को बचाने और हिंसा की साजिश का पर्दाफाश नहीं होने देने के मकसद से सरकार ने तबादला कराया है। सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि यह कपिल मिश्रा और कुछ अन्य भाजपा नेताओं को बचाने का षड्यंत्र है, लेकिन ‘मोदी-शाह सरकार’ सफल नहीं होगी।

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले को लेकर राजनीति तेज हेा गयी है। कांग्रेस इसको लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर लगातर सवाल उठा रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसे शर्मनाक बताया है। वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट कर जस्टिस लोया को याद किया। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, मौजूदा मामले को देखते हुए जस्टिस एस मुरलीधर का तबादला चौंकाने वाला नहीं है, बल्कि यह दुखद और शर्मनाक है। उन्होंने आगे कहा कि लाखों भारतीयों को एक न्यायप्रिय और ईमानदार न्यायपालिका में विश्वास है, न्याय और जनता का विश्वास तोड़ने का सरकार का प्रयास दुस्साहसी है। वहीं, राहुल गांधी ने कहा ट्वीट कर कहा है कि जज लोया को याद कर रहा हूं, उनका तबादला नहीं हुआ था। दरअसल, मुरलीधर को पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय में तबादला किया गया है। उन्होंने दिल्ली हिंसा के मामले पर सुनवाई की थी। वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेलवाला ने आरोप लगाया कि कई बीजेपी नेताओं को बचाने और हिंसा की साजिश का पर्दाफाश नहीं होने देने के मकसद से सरकार ने तबादला कराया है। सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि यह कपिल मिश्रा और कुछ अन्य भाजपा नेताओं को बचाने का षड्यंत्र है, लेकिन 'मोदी-शाह सरकार' सफल नहीं होगी।