यूपी के उप चुनावों के लिए प्रत्याशी घोषित करने में कांग्रेस ने मारी बाजी

मुंगावली सीट पर कांग्रेस को मिली जीत
मध्य प्रदेश :मुंगावली सीट पर कांग्रेस को मिली जीत, कोलारस पर बढ़त कायम

Congress Announces Candidature For Gorakhpur And Phulpur By Polls

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के लिए उप चुनाव होना है। नामांकन के लिए केवल दो दिन शेष बचे हैं, लेकिन ​कांग्रेस को छोड़कर किसी भी पार्टी ने अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा नहीं की है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने ट्वीट कर फूलपुर सीट से मनीष मिश्रा और गोरखपुर सीट से सुरहिता चैटर्जी करीम के नाम की घोषणा पार्टी के उम्मीदवार के रूप में कर दी है। वहीं इन दोनों सीटों को जीतने के लिए सबसे बेचैन भाजपा अब तक अपने प्रत्याशियों के नाम को लेकर असमंजस की स्थिति में नजर आ रही है।

सियासी लिहाज से देखा जाए तो उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद खाली हुई फूलपुर सीट कभी कांग्रेस की पारंपरिक सीट रही है। कभी देश के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू 1952 में इस सीट से पहली बार सांसद हुए थे और लगातार तीन बार वह इस सीट पर जीत कर देश का नेतृत्व करते रहे। वहीं भाजपा की बात की जाए तो केशव प्रसाद मौर्य पहले भाजपाई रहे जो 2014 में इस सीट से सांसद चुने गए। इस लिहाज से कांग्रेस और भाजपा के बीच फूलपुर सीट को लेकर कड़ी टक्कर होने की उम्मीद की जा रही है। पिछड़ी जाति वर्ग मतदाता बाहुल्य इस सीट पर कांग्रेस ने मनीष मिश्रा के रूप में सवर्ण उम्मीदवार उतारा है। देखने ये होगा कि इस सीट पर भाजपा और बसपा में कौन सी पार्टी जातीय समीकरणों को ध्यान में रखते हुए अपने प्रत्याशी के नाम की घोषणा करेगी।

मनीष मिश्रा की बात करें तो वह यूपी कांग्रेस में महामंत्री हैं और कांग्रेस के मुखिया परिवार के विश्वासपात्र लोगों में से एक हैं। मनीष मिश्रा इलाहाबाद की झूंसी सीट से विधानसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। मनीष मिश्रा के परिवार का फूलपुर सीट से पुराना नाता रहा है। उनके पिता जेएन मिश्रा दो बार फूलपुर सीट से चुनाव लड़ चुके हैं।

कांग्रेस का विश्वासपात्र रहा है मनीष मिश्रा का परिवार—

एक रिपोर्ट के मुताबिक मनीष मिश्रा के पिता जेएन मिश्रा ने आईएएस रहते स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर इंदिरा गांधी के निजी सचिव के रूप में काम किया था। वे इंदिरा गांधी के विश्वासपात्र लोगों में गिने जाते थे। इसीलिए इंदिरा गांधी ने ही उन्हें फूलपुर लोकसभा सीट से दो बार पार्टी का उम्मीदवार बनाया था, हालांकि उन्हें हर बार हार का ही सामना करना पड़ा। अब मनीष मिश्रा भी उसी सीट पर किस्मत आजमाने जा रहे हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के लिए उप चुनाव होना है। नामांकन के लिए केवल दो दिन शेष बचे हैं, लेकिन ​कांग्रेस को छोड़कर किसी भी पार्टी ने अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा नहीं की है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने ट्वीट कर फूलपुर सीट से मनीष मिश्रा और गोरखपुर सीट से सुरहिता चैटर्जी करीम के नाम की घोषणा पार्टी के उम्मीदवार के रूप में कर दी है। वहीं इन दोनों सीटों को…