1. हिन्दी समाचार
  2. कांग्रेस ने पूछा- आखिर क्यों ऊँचे दामों पर खरीदे जा रहे एंटीबॉडी परीक्षण किट?

कांग्रेस ने पूछा- आखिर क्यों ऊँचे दामों पर खरीदे जा रहे एंटीबॉडी परीक्षण किट?

Congress Asked Why Are Antibodies Testing Kits Being Purchased At High Prices

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा कोरोना परीक्षण किट को न्यूनतम लागत पर उपलब्ध कराने के लिए कहने के एक दिन बाद कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने पूछा है कि आखिर क्यों भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) द्वारा 600 रुपये प्रति पीस में एंटीबॉडी परीक्षण किट खरीदा गया, जबकि उसे 245 रुपये में आयात किया गया था।

पढ़ें :- अनोखी शादी: कपल ने न बुलाया पंडित न लिए फेरे, ऐसे की शादी की जान उड़ गए सबके होश

कांग्रेस नेता ने टेस्ट किट की खरीद को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट के एक फैसले को प्रासंगिक बताते हुए केंद्र की मोदी सरकार से सवाल किया कि आखिर आईसीएमआर 600 रुपये प्रति पीस के लिए एंटीबॉडी टेस्ट किट क्यों खरीद रहा था, जिसे 245 रुपये में आयात किया गया था? अहमद पटेल ने ट्वीट कर सरकार से इस मामले को “स्पष्ट” करने को कहा है। उन्होंने कहा कि महामारी के बीच गरीबों की कीमत पर किसी को भी लाभ नहीं होना चाहिए।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी ट्वीट कर ऊंचे दाम पर किट की खरीद पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि सरकार की इस कलाकारी को कोरोना परीक्षण किट में भ्रष्टाचार कहें या फिर राजकोष को धोखा देकर मुनाफाखोरी का खेल। उन्होंने कहा कि एक परीक्षण किट का आयात मूल्य 245 रुपये। जबकि टेस्टिंग किट की खरीद मूल्य 600 रुपये। ऐसे में लाभ का अंतर 166 फीसदी पड़ता है। यह कृत्य शर्मनाक और अमानवीय है, वो भी तब जब देश का एक वर्ग भोजन एवं अन्य जरूरी संसाधनों की कमी से जूझ रहा। उन्होंने पूछा कि क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जिम्मेदारी तय करेंगे?

उल्लेखनीय है कि रविवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा था कि कोरोना टेस्ट किट न्यूनतम दर पर लोगों को जल्द मुहैया कराया जाना चाहिए ताकि वायरस संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सके। कोर्ट ने कहा था कि देश में अभूतपूर्व चिकित्सा संकट है, जिससे देश की अर्थव्यवस्था ठहर सी गई है। ऐसे में लोगों की सुरक्षा पर निजी हित आड़े नहीं आने चाहिए। कोर्ट ने कहा कि लोगों के हितों का ध्यान रखते हुए 400 रुपये प्रति टेस्ट किट से बिक्री होनी चाहिए।

पढ़ें :- Skin को बनाना चाहते हैं ग्लोइंग और शाइनी, तो डाइट में शामिल करें ये आहार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...