कश्मीर में आतंकियों के साथ डीएसपी की गिरफ्तारी पर बोली कांग्रेस- पुलवामा हमले की नए सिरे से हो जांच

Adhir Ranjan Chaudhary
जामिया में फायरिंग: कांग्रेस नेता अधीर रंजन बोले- प्रदर्शनकारियों को डराने के लिए रची साजिश

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियां दो खुंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवादी मानते हुए कार्रवाई कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर डीएसपी की गिरफ्तारी के बाद राजनीति भी तेज हो गई है। कांग्रेस नेताओं ने इस मामले को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को भी निशाने पर लिया है।

Congress Bids For Arrest Of Dsp Along With Terrorists In Kashmir Pulwama Attack Be Investigated Afresh :

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को लगातार तीन ट्वीट करके केन्द्र सरकार से तीखे सवाल किए। अधीर चौधरी ने ट्वीट में लिखा, क्या देवेंद्र सिंह मूल रूप से देवेंद्र खान है। इस बारे में आरएसएस के ट्रोल रेजिमेंट को जवाब देना चाहिए। मजहब, रंग और कर्म को किनारे रखते हुए देश के ऐसे दुश्मनों की एक सुर में आलोचना की जानी चाहिए। बता दें, डीएसपी सिंह को पुलिस ने दो आतंवादियों के साथ गिरफ्तार किया था। उस वाहन में पांच ग्रेनेड थे और बाद में सिंह के घर की तलाशी में दो एके-47 राइफल भी मिले थे। सिंह ने राज्य पुलिस के कई वरिष्ठ पदों पर काम किया है। पुलिस ने उसे दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार किया था।

डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवादी मानते हुए पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने कार्रवाई शुरू कर दी है लेकिन राजनीति में एक नए हंगामे का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस इस मुद्दे को गंभीरता से उठा रही है और सरकार से सवाल कर रही है। इसी कड़ी में अधीर चौधरी ने ट्वीट कर कहा कि घाटी में बड़ी कमी उजागर हुई है जो हम पर भारी पड़ती दिख रही है। हम खुद को पाखंडी और मूर्ख नहीं बना सकते।

कांग्रेस नेता अधीर चौधरी ने आगे लिखा, देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद यह सवाल उठना लाजिमी है कि पुलवामा हमले के पीछे किसका हाथ था। इस पर नए सिरे से गौर करना जरूरी है। बता दें, पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में एक भीषण आतंकी हमला हुआ था जिसमें 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पूरे देश में गुस्से का ज्वार उमड़ पड़ा था। कांग्रेस पार्टी शुरू से इस हमले को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधती रही है। उधर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पूछा है कि देवेंद्र सिंह कौन है? 2001 में संसद पर हुए हमले में उसका क्या रोल था, पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उसका क्या रोल था, जहां वो डीएसपी के पद पर तैनात था।

यह है पूरा मामला

हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात थे। उसने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था। एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रपति मेडल से भी नवाजा जा चुका है। देवेंद्र सिंह एंटी टेरर ग्रुप का भी सदस्य था।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियां दो खुंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवादी मानते हुए कार्रवाई कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर डीएसपी की गिरफ्तारी के बाद राजनीति भी तेज हो गई है। कांग्रेस नेताओं ने इस मामले को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को भी निशाने पर लिया है। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को लगातार तीन ट्वीट करके केन्द्र सरकार से तीखे सवाल किए। अधीर चौधरी ने ट्वीट में लिखा, क्या देवेंद्र सिंह मूल रूप से देवेंद्र खान है। इस बारे में आरएसएस के ट्रोल रेजिमेंट को जवाब देना चाहिए। मजहब, रंग और कर्म को किनारे रखते हुए देश के ऐसे दुश्मनों की एक सुर में आलोचना की जानी चाहिए। बता दें, डीएसपी सिंह को पुलिस ने दो आतंवादियों के साथ गिरफ्तार किया था। उस वाहन में पांच ग्रेनेड थे और बाद में सिंह के घर की तलाशी में दो एके-47 राइफल भी मिले थे। सिंह ने राज्य पुलिस के कई वरिष्ठ पदों पर काम किया है। पुलिस ने उसे दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार किया था। डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवादी मानते हुए पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने कार्रवाई शुरू कर दी है लेकिन राजनीति में एक नए हंगामे का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस इस मुद्दे को गंभीरता से उठा रही है और सरकार से सवाल कर रही है। इसी कड़ी में अधीर चौधरी ने ट्वीट कर कहा कि घाटी में बड़ी कमी उजागर हुई है जो हम पर भारी पड़ती दिख रही है। हम खुद को पाखंडी और मूर्ख नहीं बना सकते। कांग्रेस नेता अधीर चौधरी ने आगे लिखा, देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद यह सवाल उठना लाजिमी है कि पुलवामा हमले के पीछे किसका हाथ था। इस पर नए सिरे से गौर करना जरूरी है। बता दें, पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में एक भीषण आतंकी हमला हुआ था जिसमें 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पूरे देश में गुस्से का ज्वार उमड़ पड़ा था। कांग्रेस पार्टी शुरू से इस हमले को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधती रही है। उधर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पूछा है कि देवेंद्र सिंह कौन है? 2001 में संसद पर हुए हमले में उसका क्या रोल था, पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उसका क्या रोल था, जहां वो डीएसपी के पद पर तैनात था। यह है पूरा मामला हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात थे। उसने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था। एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रपति मेडल से भी नवाजा जा चुका है। देवेंद्र सिंह एंटी टेरर ग्रुप का भी सदस्य था।