चित्रकूट उपचुनाव परिणाम: कांग्रेस के निलांशु चतुर्वेदी 14,333 मतों से जीते

भोपाल। मध्यप्रदेश के सतना जिले की चित्रकूट विधानसभा में उपचुनाव के नतीजे रविवार को सामने  आ गए हैं। तीन बार से कांग्रेस के कब्जे वाली इस सीट पर एकबार फिर कांग्रेस के उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी ने 14333 मतों से जीत दर्ज करवाई है। भाजपा ने इस उनके मुकाबले के लिए शंकरदयाल त्रिपाठी को प्रत्याशी बनाया था। पूर्व विधायक प्रेम सिंह के निधन के बाद चित्रकूट ​विधानसभा पर उपचुनाव लिए 9 नवंबर को मतदान करवाया गया था। दिवंगत प्रेम सिंह इस सीट से लगातार तीसरी बार विधायक थे।

Congress Candidate Nilanshu Chaturvedi Wins Chitrakoot By Election :

चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव को जीतने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी थी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़े स्तर पर इस सीट पर प्रचार किया था। जिसके बावजूद भाजपा इस सीट पर जीत दर्ज करवाने में नाकाम साबित हुई है।

करीब एक लाख 98 हजार मतदाताओं वाली इस सीट पर 64 प्रतिशत मतदान हुआ था। जिसके लिए सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हुई। मतगणना के पहले चरण से ही कांग्रेस के प्रत्याशी ने लीड बनाना शुरू कर दिया था जो नौवें चरण तक 19000 के करीब पहुंच गई थी लेकिन अंत में कांग्रेस ने 14,333 मतों से जीत दर्ज करवाई।

भोपाल। मध्यप्रदेश के सतना जिले की चित्रकूट विधानसभा में उपचुनाव के नतीजे रविवार को सामने  आ गए हैं। तीन बार से कांग्रेस के कब्जे वाली इस सीट पर एकबार फिर कांग्रेस के उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी ने 14333 मतों से जीत दर्ज करवाई है। भाजपा ने इस उनके मुकाबले के लिए शंकरदयाल त्रिपाठी को प्रत्याशी बनाया था। पूर्व विधायक प्रेम सिंह के निधन के बाद चित्रकूट ​विधानसभा पर उपचुनाव लिए 9 नवंबर को मतदान करवाया गया था। दिवंगत प्रेम सिंह इस सीट से लगातार तीसरी बार विधायक थे। चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव को जीतने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी थी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़े स्तर पर इस सीट पर प्रचार किया था। जिसके बावजूद भाजपा इस सीट पर जीत दर्ज करवाने में नाकाम साबित हुई है। करीब एक लाख 98 हजार मतदाताओं वाली इस सीट पर 64 प्रतिशत मतदान हुआ था। जिसके लिए सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हुई। मतगणना के पहले चरण से ही कांग्रेस के प्रत्याशी ने लीड बनाना शुरू कर दिया था जो नौवें चरण तक 19000 के करीब पहुंच गई थी लेकिन अंत में कांग्रेस ने 14,333 मतों से जीत दर्ज करवाई।