कांग्रेस ने गूगल प्ले स्टोर से डिलीट किया पार्टी का मोबाइल ऐप, जानें वजह

कांग्रेस , गूगल प्ले स्टोर, सिंगापुर
कांग्रेस ने गूगल प्ले स्टोर से डिलीट किया पार्टी का मोबाइल ऐप, सिंगापुर में डाटा पहुंचाने का आरोप
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को कांग्रेस पर उपभोक्ताओं का डाटा सिंगापुर की एक कंपनी के साथ साझा करने का आरोप लगाया। भाजपा का यह आरोप कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा एक मीडिया रिपोर्ट का जिक्र करने के एक दिन बाद आया है जिसमें एक फ्रांसीसी हैकर ने सिलसिलेवार ट्वीट्स के जरिए आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी के नमो ऐप के उपभोक्ताओं के ईमेल आईडी, फोटो, लिंग व नाम सहित निजी जानकारियां बिना उनकी इजाजत के तीसरी पार्टी के साथ साझा की जा रही हैं।

Congress Deletes Its Official Mobile Phone Application From Googles Play Store :

कांग्रेस ने अपना आधिकारिक मोबाइल फोन एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर से डिलीट कर दिया है। हालांकि इसके पीछे की वजह अभी पार्टी ने नहीं बताई है कि आखिर उन्होंने ऐप को प्ले स्टोर से क्यों हटाया।

बीजेपी का पलटवार
मालवीय ने अपने ट्वि‍टर हैंडल के जरि‍ए साइट के डि‍स्‍क्‍लेमरा की तस्‍वीर शेयर की और कांग्रेस पार्टी पर नि‍शान साधा कि‍ वह थर्ड पार्टी के साथ डाटा शेयर करने की मंजूरी मांग रहे हैं। मालवीय ने ट्वीट में लि‍खा, ‘हाय! मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं भारत की सबसे पुरानी राजनीति‍क पार्टी का प्रेसि‍टेंड हूं। जब आप हमारे ऑफि‍शि‍यल ऐप पर साइन अप करते हैं तो मैं आपका डाटा सिंगापुर में अपने दोस्‍तों को दूंगा।’

पहले कांग्रेस ने लगाया था आरोप
इससे पहले राहुंल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया था कि‍ NaMo ऐप के जरि‍ए यूजर्स की डि‍टेल अमेरि‍की कंपनि‍यों को पहुंचाई जा रही हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लि‍खा, ‘हाय! मेरा नाम नरेंद्र मोदी है। मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं। जब आप मेरे ऑफि‍शि‍यल ऐप के लि‍ए साइन अप करते हैं, तो मैं आपका डाटा अमेरि‍कन कंपनि‍यों में अपने दोस्‍तों को दूंगा।’

भाजपा नेता ने कहा – सोनिया गांधी की केवल शक्ति, कोई उत्तरदायित्व नहीं, की सूक्ति से प्रेरित कांग्रेस आपका सारा डाटा ले लेगी और उसे दुनिया भर के संगठनों जैसे कैंब्रिज एनालिटिका के साथ साझा करेगी, लेकिन इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेगी। ऐसा उनकी अपनी नीति कहती है। इससे पहले भाजपा ने कांग्रेस पर 2019 के चुनाव अभियान के लिए राजनीतिक डाटा विश्लेषक कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की मदद लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का आरोप लगाया था।

लंदन की कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका 5 करोड़ फेसबुक उपभोक्ताओं का डाटा अनुचित तरीके से इस्तेमाल करने को लेकर विवादों में है।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को कांग्रेस पर उपभोक्ताओं का डाटा सिंगापुर की एक कंपनी के साथ साझा करने का आरोप लगाया। भाजपा का यह आरोप कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा एक मीडिया रिपोर्ट का जिक्र करने के एक दिन बाद आया है जिसमें एक फ्रांसीसी हैकर ने सिलसिलेवार ट्वीट्स के जरिए आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी के नमो ऐप के उपभोक्ताओं के ईमेल आईडी, फोटो, लिंग व नाम सहित निजी जानकारियां बिना उनकी इजाजत के तीसरी पार्टी के साथ साझा की जा रही हैं।कांग्रेस ने अपना आधिकारिक मोबाइल फोन एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर से डिलीट कर दिया है। हालांकि इसके पीछे की वजह अभी पार्टी ने नहीं बताई है कि आखिर उन्होंने ऐप को प्ले स्टोर से क्यों हटाया।बीजेपी का पलटवार मालवीय ने अपने ट्वि‍टर हैंडल के जरि‍ए साइट के डि‍स्‍क्‍लेमरा की तस्‍वीर शेयर की और कांग्रेस पार्टी पर नि‍शान साधा कि‍ वह थर्ड पार्टी के साथ डाटा शेयर करने की मंजूरी मांग रहे हैं। मालवीय ने ट्वीट में लि‍खा, 'हाय! मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं भारत की सबसे पुरानी राजनीति‍क पार्टी का प्रेसि‍टेंड हूं। जब आप हमारे ऑफि‍शि‍यल ऐप पर साइन अप करते हैं तो मैं आपका डाटा सिंगापुर में अपने दोस्‍तों को दूंगा।'पहले कांग्रेस ने लगाया था आरोप इससे पहले राहुंल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया था कि‍ NaMo ऐप के जरि‍ए यूजर्स की डि‍टेल अमेरि‍की कंपनि‍यों को पहुंचाई जा रही हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लि‍खा, 'हाय! मेरा नाम नरेंद्र मोदी है। मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं। जब आप मेरे ऑफि‍शि‍यल ऐप के लि‍ए साइन अप करते हैं, तो मैं आपका डाटा अमेरि‍कन कंपनि‍यों में अपने दोस्‍तों को दूंगा।'भाजपा नेता ने कहा - सोनिया गांधी की केवल शक्ति, कोई उत्तरदायित्व नहीं, की सूक्ति से प्रेरित कांग्रेस आपका सारा डाटा ले लेगी और उसे दुनिया भर के संगठनों जैसे कैंब्रिज एनालिटिका के साथ साझा करेगी, लेकिन इसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेगी। ऐसा उनकी अपनी नीति कहती है। इससे पहले भाजपा ने कांग्रेस पर 2019 के चुनाव अभियान के लिए राजनीतिक डाटा विश्लेषक कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की मदद लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का आरोप लगाया था।लंदन की कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका 5 करोड़ फेसबुक उपभोक्ताओं का डाटा अनुचित तरीके से इस्तेमाल करने को लेकर विवादों में है।