1. हिन्दी समाचार
  2. आर्थिक तंगी से जूझ रही कांग्रेस, पार्टी पदाधिकारियों के चाय-नाश्ते में कटौती का लिया फैसला

आर्थिक तंगी से जूझ रही कांग्रेस, पार्टी पदाधिकारियों के चाय-नाश्ते में कटौती का लिया फैसला

By शिव मौर्या 
Updated Date

Congress Is Struggling With Financial Crisis

नई दिल्ली। पांच वर्षों से केंद्र की सत्ता से बाहर चल रही कांग्रेस की हालत खस्ता होती जा रही है। पार्टी नेताओं के बीच चल रहे गतिरोध के बाद पार्टी की आर्थिक स्थिति भी कुछ ठीक नहीं है। इसी कारण पार्टी ने इससे निपटने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। सूत्रों की माने तो शुक्रवार को पार्टी के अकाउंट विभाग ने महासचिवों, राज्य प्रभारियों और अन्य पदाधिकारियों से अपने खर्च पर लगाम लगाने की नसीहत दी है। पार्टी ने पदाधिकारियों से कहा कि, चाय-नाश्ते पर खर्च की सीमा प्रति महीने तीन हजार रुपये रखेें।

पढ़ें :- Lamborghini ने इलेक्ट्रिक वाहनों की योजना किया ऐलान, पहली इलेक्ट्रिक सुपरकार को 2030 तक किया जाएगा पेश

वहीं, यदी इससे अधिक का खर्च होता है तो संबंधित व्यक्ति को इसका भुगतान करना पड़ेगा। बता दें कि, पार्टी नेताओं और अन्य पदाधिकारियों को आल इंडिया कांग्रेस कमेटी की कैंटीन में चाय नाश्ते दिए जाते हैं और पदाधिकारी उसके बिल पर हस्ताक्षर करके लौटा देते हैं। वहीं इन सभी बिल का भुगतान अकाउंट विभाग की तरफ से किया जाता है। एक अन्य सूत्र ने बताया है कि, पार्टी ने नेताओं को छोटी दूरी की यात्रा ट्रेन से करने को कहा है।

इसके साथ ही यात्रा के दौरान रात में ठहरने की जरूरत न होने पर होटल बुक करने से भी मना किया है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस को 55.36 करोड़ रुपये का चंदा मिला है। पार्टी की संपत्तियों में 2017-18 में 15 प्रतिशत की गिरावट आई है। वर्ष 2017 के लिए संपत्ति 854 करोड़ रुपये थी, जबकि 2018 में यह 754 करोड़ रुपये थी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X