सपा- बसपा गठबंधन के बाद कांग्रेस का ऐलान, सभी 80 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

gulam nabi azad
सपा- बसपा गठबंधन के बाद कांग्रेस का ऐलान, सभी 80 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

नई दिल्ली। सपा-बसपा गठबंधन के बाद कांग्रेस ने भी अपनी रणनीति बनानी शुरु कर दी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश मे कांग्रेस सभी 80 सीटों पर डटकर चुनाव लड़ेगी और बीजेपी को हराएगी। साथ ही यह भी घोषणा की कि यूपी में कांग्रेस सभी 80 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव की लड़ाई बीजेपी और कांग्रेस के बीच में है और हम उन दलों को मदद लेंगे जो इस लड़ाई में हमारा साथ देंगे।

Congress Leader Says We Will Fight In Up At All 80 Seats :

सपा-बसपा गठबंधन के बाद हुई प्रेसवार्ता पर तंज कसते हुए उन्होने कहा कि कल से ज्यादा भीड़ यहां जुटी है। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस ने ही देश को आजाद कराया और कांग्रेस ने ही टुकड़ों में बंटे भारत को एक बनाया है। उन्होने कहा कि कांग्रेसी नेताओं ने कभी भी धर्म के आधार पर देश को नहीं बांटा। ओल्ड एज पेंशन, विधवा पेंशन और विकलांगों के लिए पेंशन शुरू की। नेहरू जी की सरकार ने सबसे पहला काम जमींदारी को खत्म किया।

बता दे कि उत्तर प्रदेश में कल बने महागठबंधन से खुद को अलग रखे जाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने लखनऊ में रविवार को यहां एक बैठक की। पार्टी सूत्रों का कहना है कि गुलाम नबी आजाद और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने लोकसभा चुनाव की रणनीति को लेकर पार्टी राज्य मुख्यालय पर गहन विचार मंथन किया।

नई दिल्ली। सपा-बसपा गठबंधन के बाद कांग्रेस ने भी अपनी रणनीति बनानी शुरु कर दी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश मे कांग्रेस सभी 80 सीटों पर डटकर चुनाव लड़ेगी और बीजेपी को हराएगी। साथ ही यह भी घोषणा की कि यूपी में कांग्रेस सभी 80 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव की लड़ाई बीजेपी और कांग्रेस के बीच में है और हम उन दलों को मदद लेंगे जो इस लड़ाई में हमारा साथ देंगे।सपा-बसपा गठबंधन के बाद हुई प्रेसवार्ता पर तंज कसते हुए उन्होने कहा कि कल से ज्यादा भीड़ यहां जुटी है। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस ने ही देश को आजाद कराया और कांग्रेस ने ही टुकड़ों में बंटे भारत को एक बनाया है। उन्होने कहा कि कांग्रेसी नेताओं ने कभी भी धर्म के आधार पर देश को नहीं बांटा। ओल्ड एज पेंशन, विधवा पेंशन और विकलांगों के लिए पेंशन शुरू की। नेहरू जी की सरकार ने सबसे पहला काम जमींदारी को खत्म किया।बता दे कि उत्तर प्रदेश में कल बने महागठबंधन से खुद को अलग रखे जाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने लखनऊ में रविवार को यहां एक बैठक की। पार्टी सूत्रों का कहना है कि गुलाम नबी आजाद और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने लोकसभा चुनाव की रणनीति को लेकर पार्टी राज्य मुख्यालय पर गहन विचार मंथन किया।