कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, सालों पुराने इस नेता ने छोड़ा साथ

a

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टॉम वडक्कन गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गए। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बीजेपी में आने पर उनका स्वागत किया। टॉम वडक्कन केरल के त्रिशूर जिले से आते हैं।

Congress Leader Tom Vadakkan Joins Bharatiya Janata Party :


टॉम वडक्कन काफी लंबे से कांग्रेस में रहे हैं वह पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सहायक रहे हैं। वडक्कन लंबे समय तक कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे हैं। राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद भी वह उनके करीबी माने जाते हैं। बीजेपी में शामिल होने के बाद टॉम वडक्कन ने कहा मैंने 20 साल कांग्रेस को दिए।

कांग्रेस में वंशवाद की राजनीति हावी है। पुलवामा हमले के बाद कांग्रेस के रुख से मैं काफी दुखी हूं। कांग्रेस पुलवामा हमले पर राजनीति कर रही है। मैं भारी मन से कांग्रेस को छोड़ रहा हूं। पाकिस्तानी आतंकियों का हमारी जमीन पर हमला और आप उस पर राजनीति करते हैं।

उन्होंने कहा कि जब आप देश की सेनाओं पर सवाल उठाते हैं तो इससे दुख होता है। कांग्रेस और छोडऩा और बीजेपी में शामिल होना विचारधारा की बात नहीं है। यह देश प्रेम की बात है। टॉम वडक्कन पूर्व पीएम और दिवंगत कांग्रेस नेता राजीव गांधी के सहायक भी रहे हैं।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टॉम वडक्कन गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गए। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बीजेपी में आने पर उनका स्वागत किया। टॉम वडक्कन केरल के त्रिशूर जिले से आते हैं।


टॉम वडक्कन काफी लंबे से कांग्रेस में रहे हैं वह पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सहायक रहे हैं। वडक्कन लंबे समय तक कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे हैं। राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद भी वह उनके करीबी माने जाते हैं। बीजेपी में शामिल होने के बाद टॉम वडक्कन ने कहा मैंने 20 साल कांग्रेस को दिए।

कांग्रेस में वंशवाद की राजनीति हावी है। पुलवामा हमले के बाद कांग्रेस के रुख से मैं काफी दुखी हूं। कांग्रेस पुलवामा हमले पर राजनीति कर रही है। मैं भारी मन से कांग्रेस को छोड़ रहा हूं। पाकिस्तानी आतंकियों का हमारी जमीन पर हमला और आप उस पर राजनीति करते हैं।

उन्होंने कहा कि जब आप देश की सेनाओं पर सवाल उठाते हैं तो इससे दुख होता है। कांग्रेस और छोडऩा और बीजेपी में शामिल होना विचारधारा की बात नहीं है। यह देश प्रेम की बात है। टॉम वडक्कन पूर्व पीएम और दिवंगत कांग्रेस नेता राजीव गांधी के सहायक भी रहे हैं।