इंडिया गेट से कांग्रेस का धरना खत्म, प्रियंका गांधी बोली- सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी

priyanka gandhi
इंडिया गेट से कांग्रेस का धरना खत्म, प्रियंका गांधी बोली- सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का धरना खत्म हो गया है। वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ इंडिया गेट पर धरने पर बैठीं थीं। प्रियंका गांधी जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों पर हुई पुलिस की कार्रवाई को लेकर धरने पर बैठीं थीं। धरना खत्म होने के बाद मीडिया से बात करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि देश में लोकतंत्र नहीं तानाशाही है। नागरिकता कानून संविधान के खिलाफ है, इसके लागू करके सरकार गलत कर रही है।

Congress Picket Ends From India Gate Priyanka Gandhi Said Government Dictatorship Will Not Work :

प्रियंका गांधी ने यह भी कहा कि देश के विश्वविद्यालयों में घुसकर छात्रों को पीटा जा रहा है। ऐसे समय जब सरकार को आगे बढ़कर लोगों की आवाज सुननी चाहिए, भाजपा सरकार उत्तर पूर्व, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में छात्रों और पत्रकारों का दमन करके अपनी मौजूदगी दर्ज करा रही है। यह सरकर कायर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को युवाओं की आवाज सुननी ही होगी।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सरकार लोगों की आवाज से डरती है। इस देश के नौजवानों, उनके साहस और उनकी हिम्मत को अपनी खोखली तानाशाही से दबाना चाहती है। यह भारतीय युवा हैं, सुन लीजिए मोदी जी, यह दबेगा नहीं, इसकी आवाज आपको सुननी ही पड़ेगी।

यही नहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को दोपहर बाद कहा कि सरकार संविधान और छात्रों पर हमला कर रही है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि दिल्‍ली पुलिस ने कल जामिया मिल्‍ल‍िया यूनिवर्सिटी में घुसकर छात्रों पर हमला बोला। हम संविधान के लिए लड़ेंगे। हम सरकार के खिलाफ लड़ेंगे।

 

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का धरना खत्म हो गया है। वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ इंडिया गेट पर धरने पर बैठीं थीं। प्रियंका गांधी जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों पर हुई पुलिस की कार्रवाई को लेकर धरने पर बैठीं थीं। धरना खत्म होने के बाद मीडिया से बात करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि देश में लोकतंत्र नहीं तानाशाही है। नागरिकता कानून संविधान के खिलाफ है, इसके लागू करके सरकार गलत कर रही है। प्रियंका गांधी ने यह भी कहा कि देश के विश्वविद्यालयों में घुसकर छात्रों को पीटा जा रहा है। ऐसे समय जब सरकार को आगे बढ़कर लोगों की आवाज सुननी चाहिए, भाजपा सरकार उत्तर पूर्व, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में छात्रों और पत्रकारों का दमन करके अपनी मौजूदगी दर्ज करा रही है। यह सरकर कायर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को युवाओं की आवाज सुननी ही होगी। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सरकार लोगों की आवाज से डरती है। इस देश के नौजवानों, उनके साहस और उनकी हिम्मत को अपनी खोखली तानाशाही से दबाना चाहती है। यह भारतीय युवा हैं, सुन लीजिए मोदी जी, यह दबेगा नहीं, इसकी आवाज आपको सुननी ही पड़ेगी। यही नहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को दोपहर बाद कहा कि सरकार संविधान और छात्रों पर हमला कर रही है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि दिल्‍ली पुलिस ने कल जामिया मिल्‍ल‍िया यूनिवर्सिटी में घुसकर छात्रों पर हमला बोला। हम संविधान के लिए लड़ेंगे। हम सरकार के खिलाफ लड़ेंगे।