PM मोदी ने आडवाणी जी को जूता मारकर स्टेज से उतारा, सुषमा ने कहा, भाषा की मर्यादा रखें राहुल

rahul and sushma
PM मोदी ने आडवाणी जी को जूता मारकर स्टेज से उतारा, सुषमा ने कहा भाषा की मर्यादा रखें राहुल

नई दिल्ली। भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी का टिकट कटने के बाद विपक्ष इसको लेकर हमलावार है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने गुरू लालकृष्ण आडवाणी जी को जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिये। वहीं इस बयान के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर राहुल गांधी को नसीहत दी है। उन्होंने लिखा है कि ‘राहुल अपनी भाषा की मर्यादा का ख्याल रखे। आडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं।’

Congress President Rahul Gandhi Gave The Controversial Statement :

लोकसभा चुनाव के प्रचार में नेताओं के बोल बिगड़ने लगे हैं। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को लेकर एक विवादित बयान दिया है। राहुल ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने गुरू लाल कृष्ण आडवाणी जी को स्टेज से जूता मारकर नीचे उतार दिया।

इस बयान के बाद भाजपा नेता इसका विरोध कर रहे हैं और राहुल गांधी को कई नसीहत दे रहे हैं। आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट कर राहुल गांधी पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि ‘राहुल जी-आडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं। आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है। कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें।’

बतातें चलें कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री पर कई संगीन आरोप लगाये। इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी जी के गुरू कौंन हैं? आडवाणी जी। शिष्य गुरू के सामने हाथ भी नहीं जोड़ता। स्टेज से उठा कर फेंक दिया आडवाणी जी को।

इसके साथ ही कहा कि जूता मार के आडवाणी जी को उतारा स्टेज से और हिन्दू धर्म की बात करते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हिन्दू धर्म में कहां लिखा है कि लोगों को मारना चाहिए।

नई दिल्ली। भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी का टिकट कटने के बाद विपक्ष इसको लेकर हमलावार है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने गुरू लालकृष्ण आडवाणी जी को जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिये। वहीं इस बयान के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर राहुल गांधी को नसीहत दी है। उन्होंने लिखा है कि 'राहुल अपनी भाषा की मर्यादा का ख्याल रखे। आडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं।'

लोकसभा चुनाव के प्रचार में नेताओं के बोल बिगड़ने लगे हैं। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को लेकर एक विवादित बयान दिया है। राहुल ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने गुरू लाल कृष्ण आडवाणी जी को स्टेज से जूता मारकर नीचे उतार दिया।

इस बयान के बाद भाजपा नेता इसका विरोध कर रहे हैं और राहुल गांधी को कई नसीहत दे रहे हैं। आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट कर राहुल गांधी पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि 'राहुल जी-आडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं। आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है। कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें।'

बतातें चलें कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री पर कई संगीन आरोप लगाये। इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी जी के गुरू कौंन हैं? आडवाणी जी। शिष्य गुरू के सामने हाथ भी नहीं जोड़ता। स्टेज से उठा कर फेंक दिया आडवाणी जी को।

इसके साथ ही कहा कि जूता मार के आडवाणी जी को उतारा स्टेज से और हिन्दू धर्म की बात करते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हिन्दू धर्म में कहां लिखा है कि लोगों को मारना चाहिए।