दिल्ली में कांग्रेस की ‘भारत बचाओ’ रैली आज, सोनिया-प्रियंका के साथ राहुल भी करेंगे संबोधित

rahul
दिल्ली में कांग्रेस की ‘भारत बचाओ’ रैली आज, सोनिया-प्रियंका के साथ राहुल भी करेंगे संबोधित

नई दिल्ली। कांग्रेस दिल्ली के रामलीला मैदान में शनिवार को मोदी सरकार के खिलाफ भारत बचाओ रैली करेगी। इस रैली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में ‘भारत बचाओ’ रैली (Bharat Bachao Rally) आयोजित करने जा रही है॰ साथ ही देश में गिरती अर्थव्यवस्था, बढ़ती बेरोजगारी समेत किसानों की समस्याओं जैसे मुद्दे उठाकर सरकार को घेरने का प्रयास किया जाएगा। बताया जा रहा है कि रैली में राहुल गांधी को प्रोजेक्ट करने की योजना है।  

Congress Save India Rally In Delhi Today Rahul Will Also Address Along With Sonia Priyanka :

रैली में देश की अर्थव्यवस्था और बढ़ती बेरोजगारी होंगे मुद्दे  

अहमद पटेल, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केसी वेणुगोपाल, मुकुल वासनिक और अविनाश पांडे सहित कांग्रेस के कई शीर्ष नेताओं ने रामलीला मैदान का दौरा किया और शनिवार की ‘भारत बचाओ रैली’ की तैयारियों की समीक्षा की। इसी बीच असम कांग्रेस ने शुक्रवार को जंतर-मंतर पर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। असम कांग्रेस ने दावा किया कि इस अधिनियम से असमिया भाषी लोग अपनी पहचान और संस्कृति खो देंगे।

रैली के जरिए राहुल गांधी को फिर से प्रोजेक्ट करने की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक, इस रैली के माध्यम से कांग्रेस पार्टी की कोशिश राहुल गांधी को एक बार फिर से प्रोजेक्ट करने और उनके लिए माहौल तैयार करने की है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। रैली के आयोजन से जुड़े कांग्रेस पार्टी के नेता के मुताबिक कार्यकर्ता बड़ी संख्या में राहुल गांधी का मास्क लगाए दिखेंगे। यूथ कांग्रेस रैली में पूरी तरह से राहुल गांधी का समर्थन करते दिखेंगी। कार्यकर्ताओं के हाथ में बैनर, पोस्टर, झंडे होंगे, जो पार्टी नेतृत्व के लिए राहुल के पक्ष में माहौल तैयार करेंगे।

कांग्रेस नेता चाहते हैं राहुल वापसी करें

वैसे अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद राहुल गांधी पार्टी के मामलों में कम ही दखल दे रहे हैं। उनका ज्यादातर समय उनके संसदीय क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियों में ही जा रहा है। हालांकि, कांग्रेस के कई नेताओं ने यह बयान दिए हैं कि राहुल गांधी को वापसी करना चाहिए।

सोनिया के अध्यक्ष बनने के बाद पहली मेगा रैली

सोनिया गांधी के पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद यह पहला मौका है, जब कांग्रेस मेगा रैली का आयोजन करने जा रही है। हालांकि, इसका मकसद कांग्रेस पार्टी में टीम राहुल की ताकत का प्रदर्शन करना भी है। पहले यह रैली 30 नवंबर को होने वाली थी, मगर बाद में संसद के शीतकालीन सत्र के मद्देनजर इसका समय 14 दिसंबर तय किया गया।

नई दिल्ली। कांग्रेस दिल्ली के रामलीला मैदान में शनिवार को मोदी सरकार के खिलाफ भारत बचाओ रैली करेगी। इस रैली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में 'भारत बचाओ' रैली (Bharat Bachao Rally) आयोजित करने जा रही है॰ साथ ही देश में गिरती अर्थव्यवस्था, बढ़ती बेरोजगारी समेत किसानों की समस्याओं जैसे मुद्दे उठाकर सरकार को घेरने का प्रयास किया जाएगा। बताया जा रहा है कि रैली में राहुल गांधी को प्रोजेक्ट करने की योजना है।   रैली में देश की अर्थव्यवस्था और बढ़ती बेरोजगारी होंगे मुद्दे   अहमद पटेल, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केसी वेणुगोपाल, मुकुल वासनिक और अविनाश पांडे सहित कांग्रेस के कई शीर्ष नेताओं ने रामलीला मैदान का दौरा किया और शनिवार की 'भारत बचाओ रैली' की तैयारियों की समीक्षा की। इसी बीच असम कांग्रेस ने शुक्रवार को जंतर-मंतर पर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। असम कांग्रेस ने दावा किया कि इस अधिनियम से असमिया भाषी लोग अपनी पहचान और संस्कृति खो देंगे। रैली के जरिए राहुल गांधी को फिर से प्रोजेक्ट करने की तैयारी सूत्रों के मुताबिक, इस रैली के माध्यम से कांग्रेस पार्टी की कोशिश राहुल गांधी को एक बार फिर से प्रोजेक्ट करने और उनके लिए माहौल तैयार करने की है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। रैली के आयोजन से जुड़े कांग्रेस पार्टी के नेता के मुताबिक कार्यकर्ता बड़ी संख्या में राहुल गांधी का मास्क लगाए दिखेंगे। यूथ कांग्रेस रैली में पूरी तरह से राहुल गांधी का समर्थन करते दिखेंगी। कार्यकर्ताओं के हाथ में बैनर, पोस्टर, झंडे होंगे, जो पार्टी नेतृत्व के लिए राहुल के पक्ष में माहौल तैयार करेंगे। कांग्रेस नेता चाहते हैं राहुल वापसी करें वैसे अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद राहुल गांधी पार्टी के मामलों में कम ही दखल दे रहे हैं। उनका ज्यादातर समय उनके संसदीय क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियों में ही जा रहा है। हालांकि, कांग्रेस के कई नेताओं ने यह बयान दिए हैं कि राहुल गांधी को वापसी करना चाहिए। सोनिया के अध्यक्ष बनने के बाद पहली मेगा रैली सोनिया गांधी के पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद यह पहला मौका है, जब कांग्रेस मेगा रैली का आयोजन करने जा रही है। हालांकि, इसका मकसद कांग्रेस पार्टी में टीम राहुल की ताकत का प्रदर्शन करना भी है। पहले यह रैली 30 नवंबर को होने वाली थी, मगर बाद में संसद के शीतकालीन सत्र के मद्देनजर इसका समय 14 दिसंबर तय किया गया।