योगी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल, 50 हजार कांग्रेसी कार्यकर्ता रहेंगे सोशल मीडिया पर live

priyanka gandhi
योगी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल, 50 हजार कांग्रेसी कार्यकर्ता रहेंगे सोशल मीडिया पर live

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक तरफ कोरोना संक्रमण के मामले 5 हजार के पार पहुंच चुके हैं वहीं विपक्षी पार्टियों और सरकार के बीच प्रवासी मजदूरों का लेकर जंग छिड़ गयी है. प्रवासी मजदूरों की घर वापसी को लेकर 1000 बसों के मुद्दे पर का्ग्रेस और योगी सरकार के बीच काफी तनाव हो गया है. कांग्रेस अब गुरुवार दोपहर सोशल मीडिया पर बड़ा अभियान शुरू करने जा रही है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की तरफ से जारी संदेश में कहा गया है कि दोपहर एक बजे 50 हजार कार्यकर्ता फेसबुक लाइव के माध्यम से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे और राज्य दमन का विरोध करेंगे. ये राजीव गांधी की सच्ची श्रद्धांजलि होगी. बता दें कि 21 मई को राजीव गांधी की पुण्‍यतिथि है.

Congress Slogans Against Yogi Government 50 Thousand Congress Workers Will Live On Social Media :

संदेश में प्रियंका गांधी ने कहा, ‘साथियों आपने देखा योगी सरकार का कोरोना महामारी से लड़ने का तरीका! कांग्रेस पार्टी ने प्रवासी श्रमिकों के लिए बसों का इंतजाम किया तो योगी सरकार ने यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष को फर्जी मुकदमे लगाकर जेल भेज दिया. कोरोना आपदा काल में पूरा देश एकजुट होकर महामारी से लड़ रहा है. मगर यूपी सरकार श्रमिकों के लिए बस, ट्रेन टिकट, खाने और राशन का इंतजाम करने वालों को जेल में डाल रही है.’

राजीव गांधी को किया याद
प्रियंका गांधी ने कहा कि आज (21 मई 2020) राजीव गांधी जी का 30वां शहादत दिवस है. उन्‍होंने देश के लिए अपनी जान दी. वे हिंदुस्तान और इसके वासियों से बेइंतहा प्यार करते थे. गरीबों का दर्द उनसे देखा नहीं जाता था. हम सब उनकी सोच के वारिस हैं. हमने राजीव जी से सीखा है कमजोरों की मदद करना. हमें कोई डरा नहीं सकता. उन्हें याद करते हुए आज 21 मई दोपहर 1 बजे से हमारे 50 हजार कार्यकर्ता फेसबुक लाइव के माध्यम से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे और राज्य दमन का विरोध करेंगे. ये राजीव जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

प्रदेश कांग्रेस की झोंकी पूरी ताकत

प्रियंका ने लिखा है कि पूरी कांग्रेस पार्टी, सभी अग्रिम संगठन व विभाग और सेल आदि से हमारा एक-एक कार्यकर्ता पूरी ताकत से श्रमिकों की आवाज उठाएगा. राज्य दमन का प्रतिरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि पीसीसी पदाधिकारियों, समस्त जिला व शहर अध्यक्षों, फ्रंटल, विभागों, सेल के अध्यक्ष, इंचार्ज को पूरी शिद्दत से इसकी तैयारी में लग जाना है. दोपहर 12 बजे तक पीसीसी कार्यालय व सोशल मीडिया विभाग को जिले के भागीदारों की सूची लिखित या फोन से उपलब्ध करा देनी है. हम सबको मिलकर इसे सफल बनाना है.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक तरफ कोरोना संक्रमण के मामले 5 हजार के पार पहुंच चुके हैं वहीं विपक्षी पार्टियों और सरकार के बीच प्रवासी मजदूरों का लेकर जंग छिड़ गयी है. प्रवासी मजदूरों की घर वापसी को लेकर 1000 बसों के मुद्दे पर का्ग्रेस और योगी सरकार के बीच काफी तनाव हो गया है. कांग्रेस अब गुरुवार दोपहर सोशल मीडिया पर बड़ा अभियान शुरू करने जा रही है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की तरफ से जारी संदेश में कहा गया है कि दोपहर एक बजे 50 हजार कार्यकर्ता फेसबुक लाइव के माध्यम से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे और राज्य दमन का विरोध करेंगे. ये राजीव गांधी की सच्ची श्रद्धांजलि होगी. बता दें कि 21 मई को राजीव गांधी की पुण्‍यतिथि है. संदेश में प्रियंका गांधी ने कहा, 'साथियों आपने देखा योगी सरकार का कोरोना महामारी से लड़ने का तरीका! कांग्रेस पार्टी ने प्रवासी श्रमिकों के लिए बसों का इंतजाम किया तो योगी सरकार ने यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष को फर्जी मुकदमे लगाकर जेल भेज दिया. कोरोना आपदा काल में पूरा देश एकजुट होकर महामारी से लड़ रहा है. मगर यूपी सरकार श्रमिकों के लिए बस, ट्रेन टिकट, खाने और राशन का इंतजाम करने वालों को जेल में डाल रही है.' राजीव गांधी को किया याद प्रियंका गांधी ने कहा कि आज (21 मई 2020) राजीव गांधी जी का 30वां शहादत दिवस है. उन्‍होंने देश के लिए अपनी जान दी. वे हिंदुस्तान और इसके वासियों से बेइंतहा प्यार करते थे. गरीबों का दर्द उनसे देखा नहीं जाता था. हम सब उनकी सोच के वारिस हैं. हमने राजीव जी से सीखा है कमजोरों की मदद करना. हमें कोई डरा नहीं सकता. उन्हें याद करते हुए आज 21 मई दोपहर 1 बजे से हमारे 50 हजार कार्यकर्ता फेसबुक लाइव के माध्यम से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे और राज्य दमन का विरोध करेंगे. ये राजीव जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी. प्रदेश कांग्रेस की झोंकी पूरी ताकत प्रियंका ने लिखा है कि पूरी कांग्रेस पार्टी, सभी अग्रिम संगठन व विभाग और सेल आदि से हमारा एक-एक कार्यकर्ता पूरी ताकत से श्रमिकों की आवाज उठाएगा. राज्य दमन का प्रतिरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि पीसीसी पदाधिकारियों, समस्त जिला व शहर अध्यक्षों, फ्रंटल, विभागों, सेल के अध्यक्ष, इंचार्ज को पूरी शिद्दत से इसकी तैयारी में लग जाना है. दोपहर 12 बजे तक पीसीसी कार्यालय व सोशल मीडिया विभाग को जिले के भागीदारों की सूची लिखित या फोन से उपलब्ध करा देनी है. हम सबको मिलकर इसे सफल बनाना है.