1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कांग्रेस ने राफेल पर सवालों की झड़ी लगाकर मोदी सरकार को घेरा, बोला- दाढ़ी में एक नहीं, कई तिनके…

कांग्रेस ने राफेल पर सवालों की झड़ी लगाकर मोदी सरकार को घेरा, बोला- दाढ़ी में एक नहीं, कई तिनके…

फ्रांस में जब से राफेल डील में कथित भ्रष्टाचार की जांच होने का खुलासा हुआ है, तब से ही भारत में राजनीति का सियासी पारा चढ़ गया है। इस डील की जांच को लेकर फ्रांस सरकार की ओर से जज की नियुक्ति के बाद कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Congress Surrounded The Modi Government With A Flurry Of Questions On Rafale

नई दिल्ली। फ्रांस में जब से राफेल डील में कथित भ्रष्टाचार की जांच होने का खुलासा हुआ है, तब से ही भारत में राजनीति का सियासी पारा चढ़ गया है। इस डील की जांच को लेकर फ्रांस सरकार की ओर से जज की नियुक्ति के बाद कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है। राफेल डील की जेपीसी जांच कराने की मांग के बाद एक बार फिर से कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा है। कहा कि केंद्र सरकार के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सिर्फ एक नारा बनकर रह गया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि दाढ़ी में एक नहीं, कई तिनके हैं।

पढ़ें :- UP Assembly Election 2022: यूपी की राजनीति में ब्राम्हण जब याद आए तो बहुत याद आए

इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी की दाढ़ी वाली एक तस्वीर शेयर कर उनपर हमला बोला है। राहुल गांधी ने अपने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर कर कैप्शन दिया है- चोर की दाढ़ी। इस इंस्टाग्राम पोस्ट में राहुल गांधी ने पीएम मोदी की एक तस्वीर को राफेल विमान के साथ एडिट करके शेयर किया है। इससे पहले ट्विटर पर राहुल गांधी ने सिर्फ कैप्शन लिखा था- चोर की दाढ़ी

भारतीय वायु सेना के लिए राफेल जेट खरीदने के लिए फ्रांसीसी निर्माता डसॉल्ट एविएशन के साथ सौदे पर केंद्र विरोध करने वाली कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से सभी केंद्र सरकारों ने राष्ट्रीय सुरक्षा को एक गंभीर मुद्दा माना है। इसका राजनीतिकरण करने से परहेज किया है। मोदी सरकार ने भी कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सर्वोपरि है। कोई समझौता नहीं होना चाहिए। मगर जब बात अपने उद्योगपति मित्रों की जेब भरने की आती है, तो पिछले सात वर्षों से उनकी प्राथमिकता क्रोनी कैपिटलिज्म रही है। जब उनकी (उद्योगपतियों की) जेब भरने की बात आती है, तो राष्ट्रीय सुरक्षा केंद्र के लिए नारा बनकर रह जाता है।

पवन खेड़ा ने कहा कि फ्रांस में भ्रष्टाचार, मनी लॉन्ड्रिंग और पक्षपात के संबंध में राफेल सौदे की जांच शुरू किए 24 घंटे हो गए हैं। उन्होंने कहा कि अब पूरा देश दिल्ली की ओर देख रहा है कि आखिर भारत सरकार अभी भी चुप क्यों है? मगर अब तक इस पर केंद्र की ओर से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। राफेल क्या था? यह एक अंतर-सरकारी सौदा था। फ्रांस ने एक जांच शुरू की है। दूसरी तरफ, जांच के बारे में भूल जाओ, भारत सरकार ने एक भी टिप्पणी नहीं दी है। और यह वही सरकार है जो सिर्फ बात करने के लिए जानी जाती है। अब तक प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और कैबिनेट के अन्य सदस्य चुप हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि इस चुप्पी की गूंज पूरी दुनिया में सुनाई दे रही है। उन्होंने कहा कि जिसको पैसे मिले, जिसे लाभ हुआ वह जांच कर रहा है। इस सौदे पर जो पैसे दे रहा है उसके यहां जांच पर चुप्पी है। इस सरकार की चुप्पी से बड़ा कोई सबूत नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि यह बहुत शर्मनाक बात है कि चुनाव के अलावा यह सरकार कोई बात नहीं करती।

मीडिया के सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि अगर हिम्मत है। तो प्रधानमंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन सवालों का जवाब दें फिर 2024 की बात करिए। 2021 तक आपने जो कांड किए हैं, अभी हम सिर्फ उसकी बात कर रहे हैं। उन्हें तमाम हथकंडे अपनाने दीजिए, अगर इनको दाढ़ी अच्छी नहीं लगती तो यह उनकी पार्टी का इंटरनल मैटर है। उनकी दाढ़ी पर हम क्या बोलें। जो तथ्यात्मक प्रश्न हैं, उऩका कब जवाब देंगे। उनकी दाढ़ी में देश को रुचि नहीं है।

पढ़ें :- नई दिल्ली से कटरा तक वंदे भारत एक्सप्रेस सेवा बहाल, मोदी सरकार ने प्रतिबद्धता पूरी की : जितेन्द्र सिंह

देश को रुचि है कि 570 करोड़ की चीज 1670 करोड़ में क्यों खरीदी गई। 126 के बदले सिर्फ 36 क्यों खरीदे गए। भ्रष्टाचार नहीं होने चाहिए, दलाल नहीं होने चाहिए, ये क्लॉज क्यों हटा दिए। क्यों आपने पुराने एग्रीमेंट से देश के पैसे बचाने वाले अहम क्लॉज हटा दिए। इससे स्पष्ट हो जाता है कि वाकई तिनका है। एक नहीं अनेक तिनके हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X