शिलांग। नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के नेता कोनराड संगमा ने मेघालय के 12वें मुख्यमंत्री के तौर पर मंगलवार को शपथ ली। वह लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष पी. ए. संगमा के पुत्र हैं। राज्यपाल गंगा प्रसाद ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मेघालय की तुरा लोकसभा सीट के सांसद कोनराड (40) को मेघालय डेमोक्रेटिक एलायंस (एमडीए) के नेता के तौर पर पेश किया गया था।

2 सीटों के साथ बीजेपी बना रही है गठबंधन की सरकार

{ यह भी पढ़ें:- डांसर सपना चौधरी करेंगी कांग्रेस के लिए प्रचार, बीजेपी सांसद ने दिया विवादित बयान }

संगमा ने रविवार शाम राज्यपाल से मुलाकात की और 60 सदस्यीय विधानसभा में 34 विधायकों के समर्थन के साथ राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया। 34 विधायकों में नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के 19, यूडीपी के छह, पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट (पीडीएफ) के चार, हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (एचएसपीडीपी) और बीजेपी के दो-दो और एक निर्दलीय विधायक शामिल हैं ।

कोनराड संगमा 60 सदस्यीय विधानसभा के सदस्य नहीं हैं। उन्हें छह माह में विधानसभा सीट से चुनाव जीतना होगा। इस अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ विधायक अलेक्जेंडर लालू हेक और पहली बार मंत्रिमंडल में शामिल किए गए एचएसपीडीपी के सामलिन मालंगियांग समेत 11 कैबिनेट मंत्रियों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली

{ यह भी पढ़ें:- जम्मू में BJP का शक्ति प्रदर्शन, अमित शाह जनसभा को करेंगे संबोधित }

कौन है कोनराड संगमा

कॉनराड संगमा पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पी ए संगमा के पुत्र हैं। पश्चिम गारो हिल्स जिले के सेलसेल्ला विधानसभा सीट से 2008 में एनसीपी (NCP) के टिकट पर विधायक बनें थें । 2008 में मेघालय राज्य के वित्त मंत्री बने थें। 2009 से 2013 तक संगमा मेघालय विधानसभा में नेता विपक्ष थे. 6 जनवरी 2013 को एनसीपी (NCP) से अलग होकर पीए संगमा ने एनपीपी (NPP) पार्टी बनाई थी।

2013 के विधानसभा चुनाव में संगमा एनपीपी से सेलसेल्ला विधानसभा सीट से चुनाव हार गए। 2016 के लोकसभा के उप-चुनाव में संगमा तुरा लोक सभा सीट से एनपीपी के सांसद चुने गए। लंदन से एमबीए की पढ़ाई की है, 40 साल के हैं। इनके भाई जेम्स संगमा Dadenggre सीट से विधायक है. इनकी बहन और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अगाथा संगमा दक्षिण तुरा से विधायक हैं।

{ यह भी पढ़ें:- अखिलेश यादव की बढ़ी मुश्किलें, HC ने सरकार से मांगी बंगले में तोड़फोड़ की रिपोर्ट }