देश को फिर दहलाने की साजिश: बालाकोट में जैश के दो दर्जन से अधिक आतंकियों को दी जा रही ट्रेनिंग

Jaish e Mohammed
देश को फिर दहलाने की साजिश: बालाकोट में जैश के दो दर्जन से अधिक आतंकियों को दी जा रही ट्रेनिंग

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने बीते वर्ष फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के जिन आतंकी ठिकानों को एयर स्ट्राइक में ध्वस्त कर दिया था, अब वह ट्रेनिंग कैम्प फिर से सक्रिय हो गया है। सूत्रों का कहना है जैश-ए-मोहम्मद के इस आतंकी कैंप में भारत में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए दो दर्जन से अधिक आतंकवादियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। यह जानकारी इंटेलीजेंस और काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स ने दी है।

Conspiracy To Terrorize The Country Again More Than Two Dozen Jaish Terrorists Being Given Training In Balakot :

बता दें कि पिछले साल फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक कर जैश के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। आतंकी संगठन जैश के इस बालाकोट कैंप को आतंकी मौलाना मसूद अजहर का बेटा यूसुफ अजहर चला रहा है। आतंकी यूसुफ भारत के खिलाफ आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए दो दर्जन से अधिक जिहादियों को ट्रेनिंग दे रहा है।

काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स के मुताबिक, बालाकोट कैंप में ट्रेनिंग ले रहे इन आतंकियों में से आठ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के हैं। इन्हें पाकिस्तान स्थित पंजाब के दो और अफगानिस्तान के तीन प्रशिक्षकों द्वारा तैयार किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस सप्ताह तक उनकी ट्रेनिंग खत्म हो जाएगी, जिसके बाद ये आतंकवादी भारत में घुसने के लिए तैयार होंगे। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के बालाकोट में जब भारत ने एयर स्ट्राक की थी, उस समय इस कैंप में करीब 300 आतंकी ट्रेनिंग ले रहे थे।

गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानें ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप पर बमबारी की थी और कैंप को तबाह कर दिया था। हालांकि, पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा है। मगर भारत सरकार ने इसके सबूत भी दिए। दरअसल, 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला कर दिया था, जिसमें करीब 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे। इसी के जवाब में भारत ने 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश की कमर तोड़ी थी।

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने बीते वर्ष फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के जिन आतंकी ठिकानों को एयर स्ट्राइक में ध्वस्त कर दिया था, अब वह ट्रेनिंग कैम्प फिर से सक्रिय हो गया है। सूत्रों का कहना है जैश-ए-मोहम्मद के इस आतंकी कैंप में भारत में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए दो दर्जन से अधिक आतंकवादियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। यह जानकारी इंटेलीजेंस और काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स ने दी है। बता दें कि पिछले साल फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक कर जैश के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। आतंकी संगठन जैश के इस बालाकोट कैंप को आतंकी मौलाना मसूद अजहर का बेटा यूसुफ अजहर चला रहा है। आतंकी यूसुफ भारत के खिलाफ आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए दो दर्जन से अधिक जिहादियों को ट्रेनिंग दे रहा है। काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स के मुताबिक, बालाकोट कैंप में ट्रेनिंग ले रहे इन आतंकियों में से आठ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के हैं। इन्हें पाकिस्तान स्थित पंजाब के दो और अफगानिस्तान के तीन प्रशिक्षकों द्वारा तैयार किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस सप्ताह तक उनकी ट्रेनिंग खत्म हो जाएगी, जिसके बाद ये आतंकवादी भारत में घुसने के लिए तैयार होंगे। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के बालाकोट में जब भारत ने एयर स्ट्राक की थी, उस समय इस कैंप में करीब 300 आतंकी ट्रेनिंग ले रहे थे। गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानें ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप पर बमबारी की थी और कैंप को तबाह कर दिया था। हालांकि, पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा है। मगर भारत सरकार ने इसके सबूत भी दिए। दरअसल, 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला कर दिया था, जिसमें करीब 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे। इसी के जवाब में भारत ने 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश की कमर तोड़ी थी।