लखनऊ में लगाए गये विवादित पोस्टर, कही योगी को बदनाम करने की साजिश तो नही!

CM yOGI
लखनऊ में लगाए गये विवादित पोस्टर, कही योगी को बदनाम करने की साजिश तो नही!

लखनऊ। हाल ही में उत्तर प्रदेश में हुए पशुधन व 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर विपक्ष व सीएम योगी के विरोधियों ने योगी सरकार को पूरी तरह से घेर लिया है। अभी तक ​विपक्ष व विरोधी योगी की आलोचना करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रहे थे लेकिन अब राजधानी में ही उनके खिलाफ विवादित पोस्टर लगाए जा रहे हैं।

Controversial Posters Put Up In Lucknow Not A Conspiracy To Malign Yogi :

बता दें कि चंद दिनो पहले ही पशुधन घोटाले को लेकर एसटीएफ ने एक बड़ा खुलासा किया है जिसमें नामी लोग गिरफ्तार हुए हैं वहीं दूसरी तरफ 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में भी बड़े बड़े नाम सामने आ रहे हैं। ऐसे में यूपी सरकार के साथ साथ सीएम योगी पर भ्री निशाना साधा जा रहा है।

करीबी भी हैं नाराज

सूत्रों की माने तो ईमानदार व्यक्तित्व वाले सीएम योगी ने अपने तीन साल के कार्यकाल में किसी भी मंत्री, विधायक या भाजपा कार्यकर्ता को विभागों में कोई मनमानी नही करने दी। इसकी वजह से उन्हे नाराजगी का भी सामना करना पड़ा। हाल ही में देखा गया कि बीजेपी के कई विधायकों ने ही अपनी सरकार पर सवाल उठाने शुरू कर दिए थे। ऐसे में राजधानी के अंदर सीएम योगी को बदनाम करने के लिए विवादित पोस्टर लगाने में विपक्ष के साथ साथ करीबी भी संदेह के घेरे में आ सकते हैं।

लखनऊ। हाल ही में उत्तर प्रदेश में हुए पशुधन व 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर विपक्ष व सीएम योगी के विरोधियों ने योगी सरकार को पूरी तरह से घेर लिया है। अभी तक ​विपक्ष व विरोधी योगी की आलोचना करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रहे थे लेकिन अब राजधानी में ही उनके खिलाफ विवादित पोस्टर लगाए जा रहे हैं। बता दें कि चंद दिनो पहले ही पशुधन घोटाले को लेकर एसटीएफ ने एक बड़ा खुलासा किया है जिसमें नामी लोग गिरफ्तार हुए हैं वहीं दूसरी तरफ 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में भी बड़े बड़े नाम सामने आ रहे हैं। ऐसे में यूपी सरकार के साथ साथ सीएम योगी पर भ्री निशाना साधा जा रहा है। करीबी भी हैं नाराज सूत्रों की माने तो ईमानदार व्यक्तित्व वाले सीएम योगी ने अपने तीन साल के कार्यकाल में किसी भी मंत्री, विधायक या भाजपा कार्यकर्ता को विभागों में कोई मनमानी नही करने दी। इसकी वजह से उन्हे नाराजगी का भी सामना करना पड़ा। हाल ही में देखा गया कि बीजेपी के कई विधायकों ने ही अपनी सरकार पर सवाल उठाने शुरू कर दिए थे। ऐसे में राजधानी के अंदर सीएम योगी को बदनाम करने के लिए विवादित पोस्टर लगाने में विपक्ष के साथ साथ करीबी भी संदेह के घेरे में आ सकते हैं।