1. हिन्दी समाचार
  2. सीएम उद्धव ठाकरे की अधिकारियों के साथ बैठक में रिश्तेदार के शामिल होने पर उठा विवाद

सीएम उद्धव ठाकरे की अधिकारियों के साथ बैठक में रिश्तेदार के शामिल होने पर उठा विवाद

Controversy Over Relative Involvement Of Cm Uddhav Thackeray In Meeting With Officials

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। शिवसेना प्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे की बहन के बेटे (भांजे) वरुण सरदेसाई विवादों में घिर गए हैं। दरअसल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की आइएएस अफसरों और मंत्रालय के अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक में वरुण सरदेसाई भी शामिल थे। मंत्रालय में सीएम की अध्यक्षता में होने वाली अधिकारियों की बैठक में भांजे वरुण सरदेसाई के आने और संचालित करने पर नौकरशाहों ने इसे तय नियमों के विरुद्ध बताया है।

पढ़ें :- बंगालः नारेबाजी से नाराज हुईं ममता बनर्जी, कहा-किसी को बुलाकर बेइज्जत करना ठीक नहीं

बता दें कि सोमवार को मुंबई और उसके आसपास के तटीय इलाकों में पर्यटन में सुधार पर विचार-विमर्श के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के अफसरों की एक बैठक बुलाई थी। मंत्रालय के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कोई व्यक्ति जो जनप्रतिनिधि या सरकार का हिस्सा नहीं है, वह आधिकारिक बैठक में कैसे हिस्सा ले सकता है। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह उस पद और गोपनीयता की शपथ का उल्लंघन है जो मुख्यमंत्री पद संभालते हुए ली गई थी।

ध्यान रहे कि वरुण सरदेसाई उद्धव ठाकरे का भांजा होने के चलते ही शिवसेना की युवा इकाई युवसेना के सचिव भी हैं। भांजे वरुण ने युवसेना की भी बैठक बुलाई थी। युवसेना के एक सदस्य ने बताया कि उन्हें निर्देश दिए गए थे कि पार्टी सत्ता में है इसलिए काम कराने की गरज से उन लोगों को मंत्रालय जाने से बचना चाहिए।

जब वरुण सरदेसाई से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सीएम की ओर से बैठक में जाने में कोई गलत बात नहीं है। हालांकि, सेना के सहयोगी दल कांग्रेस ने तो इस मुद्दे पर चुप्पी साध ली है, लेकिन वह इस घटना से खुश नहीं हैं। राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि यह कोई बड़ी गलती नहीं है। ऐसा इसलिए हुआ होगा, क्योंकि सीएम नए हैं और उन्हें प्रशासनिक अनुभव नहीं है, लेकिन उद्धव ठाकरे को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि भविष्य में ऐसा न हो।

वहीं शिवसेना के मीडिया सलाहकार हर्षल प्रधान ने कहा कि युवसेना नेता वरुण सरदेसाई ने कौतूहलवश बैठक में भाग लिया होगा। सीएम ने बैठक में अधिकारियों से मुंबई में अंतरराष्ट्रीय स्तर का एक्वेरियम बनाने, कोंकण के तटीय इलाकों में भी पर्यटन को बढ़ावा देने की योजनाओं पर चर्चा की थी। साथ ही, संजय गांधी नेशनल पार्क में नाइट सफारी बनाने को कहा। ऐसे में वरुण महज कौतूहलवश चले गए होंगे।

पढ़ें :- हमारे नेताजी भारत के पराक्रम की प्रतिमूर्ति भी हैं और प्रेरणा भी : पीएम मोदी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...