1. हिन्दी समाचार
  2. कोरोना संकट से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ा बुरा प्रभाव, एशियाई विकास बैंक ने जाहिर की चिंता

कोरोना संकट से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ा बुरा प्रभाव, एशियाई विकास बैंक ने जाहिर की चिंता

Corona Crisis Had A Bad Impact On The Countrys Economy Asian Development Bank Expressed Concern

नई दिल्ली. एशियाई विकास बैंक (ADF) ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ा है. चालू वित्त वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था चार प्रतिशत संकुचित होने का अनुमान है. इतना ही नहीं एडीबी का अनुमान है कि ‘विकासशील एशिया’ का हिस्सा रहे देश 2020 में बड़ी मुश्किल से वृद्धि कर पाएंगे. इस बहुपक्षीय वित्तीय संगठन ने अपनी रिपोर्ट एशियाई विकास परिदृश्य में कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए अपनाए गए उपायों के चलते आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई हैं और बाहरी मांग कमजोर पड़ी है.

पढ़ें :- हाथरस दरिंदगी: ​दिल्ली में महिला कांग्रेस ने शुरू किया प्रदर्शन, दोषियों को सजा दिलाने की मांग

वहीं, एशियन डेवलपमेंट आउटलुक में कहा गया कि 2020 में चीन की ग्रोथ के 1.8 फीसद सकारात्मक रहने का अनुमान है. साल 2019 में चीन ने 6.1 फीसद की ग्रोथ प्राप्त की थी.

40 से अधिक सदस्य देशों का है समूह- विकासशील एशिया से आशय एडीबी के 40 से अधिक सदस्य देशों के समूह से है. रपट में कहा गया है कि हांगकांग, कोरिया गणराज्य, सिंगापुर और ताइपेई जैसी नई औद्योगिक अर्थव्यवस्था को छोड़कर विकासशील एशिया के चालू वर्ष में 0.4 प्रतिशत की दर से और 2021 में 6.6 प्रतिशत की दर से वृद्धि करने का अनुमान है. कोविड-19 ने दक्षिण एशिया को बुरी तरह प्रभावित किया है.

वर्ष 2020 में इसके तीन प्रतिशत संकुचित होने का अनुमान है. जबकि अप्रैल में इस क्षेत्र में 4.1 प्रतिशत संकुचन का अनुमान था. एडीबी ने 2021 के लिए दक्षिण एशिया वृद्धि के अनुमान को 6 प्रतिशत से घटाकर 4.9 प्रतिशत कर दिया है.

रपट के अनुसार, ‘भारतीय अर्थव्यवस्था के 31 मार्च 2021 को समाप्त होने वाले चालू वित्त वर्ष में चार प्रतिशत संकुचित होने का अनुमान है. जबकि 2021-22 में देश की अर्थव्यवस्था के पांच प्रतिशत की दर से वृद्धि करने की संभावना है.’ एडीबी के मुख्य अर्थशास्त्री यासुयुकी सवादा ने कहा कि एशिया और प्रशांत क्षेत्र की अर्थव्यवस्थाओं पर इस साल कोविड-19 का असर बना रहेगा. भले ही लॉकडाउन में धीरे-धीरे राहत दी जाए और चुनिंदा कारोबारी गतिविधियों को नए हालातों में दोबारा शुरू किया जाए.

पढ़ें :- उपचुनाव: 56 विधानसभा सीटों पर इस दिन होगी वोटिंग, 10 नवंबर को आयेंगे नतीजे

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...