कोरोना संकट: कांग्रेसियों द्वारा गरीबों व जरूरतमंदो की मदद करने के लिए सोनिया ने जताया आभार

soniya gandhi
कोरोना संकट: कांग्रेसियों द्वारा गरीबों व जरूरतमंदो की मदद करने के लिए सोनिया ने जताया आभार

नई दिल्ली। भारत में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता चला जा रहा है वहीं सत्ताधारी पार्टियों के साथ साथ सभी राजनीतिक पार्टियों ने गरीबों की मदद करने का जिम्मा उठा रखा है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी पार्टी् के नेताओं को लोगों की मदद करने को कहा था, इसी को लेकर उन्होने वीडियो कांफ्रेसिंग के ​जरिए सभी का आभार व्यक्त किया है।

Corona Crisis Sonia Expresses Gratitude For Helping Poor And Needy By Congressmen :

उन्होने सभी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बातचीत की। बातचीत के वक्त सोनिया ने देश की अर्थव्यवस्था पर भी बात की। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी- लगता है कि अब और मुश्किलें बढ़ेंगी।

इस दौरान कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा कि देश व हम सब के लिए यह बहुत संकट का समय है और इन परिस्थितियों में ऐसी मीटिंग पहली बार हो रही है। मैं आप सब से कुछ बातें कहना चाहती हूं और आप की बातों, आपके सुझावों को सुनना भी चाहती हूं।

सोनिया गांधी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “देश कोरोना महामारी को रोकने के लिए लड़ रहा है। इस लड़ाई में हम पूरी तरह से अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। आप सब जानते ही हैं की हर प्रदेश में कांग्रेस के पदाधिकारी, हमारे कार्यकर्ता कई हफ्तों से देशवासियों की सेवा में लगे हुए हैं।”

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सोनिया गांधी ने कांग्रेसियों का आभार भी जताया। उन्होंने कहा, “लॉकडाउन के चलते जो गरीब मजदूर अपने-अपने गांव की ओर रवाना हुए, और उनकी परेशानियों को दूर करने का काम हमारे कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर किया है। आज भी, देश भर में, हर जिले के कांग्रेस के सिपाही इस काम में लगे हुए हैं। आप सब के समर्पण के लिए मैं अत्यंत आभारी हूं।”

सोनिया ने आगे कहा, “आप जानते ही होंगे कि मैंने और पूर्व अध्यक्ष राहुल जी ने प्रधानमंत्री जी को चिट्ठियां लिख कर कुछ सुझाव भी दिए। हमारी आशा है की सरकार इस चुनौती का सामना करने के लिए योजना बनाए। सबसे ज्यादा पीड़ा और परेशानी गरीबों, किसानों और मजदूरों को हो रही है।”

इस बातचीत के वक्त सोनिया ने देश की अर्थव्यवस्था पर भी बात की. उन्होंने कहा, “लॉकडाउन की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी- लगता है कि अब और मुश्किलें बढ़ेंगी. इन परिस्थितियों के लिए हमें तैयार होना पड़ेगा। जनता के दुख में, जनता का साथ देना होगा और उनकी परेशानियों को दूर करने का पूरा प्रयास करना होगा।

सोनिया ने इस दौरान कहा, “मैं आपसे जानना चाहती हूं कि आपके प्रदेशों में कोरोना महामारी को फैलने से रोकने का काम कैसे चल रहा है? क्या आप सरकार के प्रयासों से संतुष्ट हैं? कांग्रेस पार्टी इस समय किस तरह से अपने संगठन द्वारा लड़ाई में और ज्यादा योगदान दे सकती है? और अब तक आप सब ने अपने-अपने प्रदेशों में क्या काम किया है?”

अंत में सोनिया गांधी ने कहा कि मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि आप सब अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें और सब कार्यकर्ताओं को सूचना दें कि कोरोना से बचने के लिये सारे नियमों का पूरी तरह से पालन करें। 14 अप्रैल को डॉ बी.आर. अंबेडकर जी की जयंती है, इस अवसर पर हम सब उनके प्रति अपना सम्मान व्यक्त करते हैं और हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

नई दिल्ली। भारत में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता चला जा रहा है वहीं सत्ताधारी पार्टियों के साथ साथ सभी राजनीतिक पार्टियों ने गरीबों की मदद करने का जिम्मा उठा रखा है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी पार्टी् के नेताओं को लोगों की मदद करने को कहा था, इसी को लेकर उन्होने वीडियो कांफ्रेसिंग के ​जरिए सभी का आभार व्यक्त किया है। उन्होने सभी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बातचीत की। बातचीत के वक्त सोनिया ने देश की अर्थव्यवस्था पर भी बात की। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी- लगता है कि अब और मुश्किलें बढ़ेंगी। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा कि देश व हम सब के लिए यह बहुत संकट का समय है और इन परिस्थितियों में ऐसी मीटिंग पहली बार हो रही है। मैं आप सब से कुछ बातें कहना चाहती हूं और आप की बातों, आपके सुझावों को सुनना भी चाहती हूं। सोनिया गांधी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, "देश कोरोना महामारी को रोकने के लिए लड़ रहा है। इस लड़ाई में हम पूरी तरह से अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। आप सब जानते ही हैं की हर प्रदेश में कांग्रेस के पदाधिकारी, हमारे कार्यकर्ता कई हफ्तों से देशवासियों की सेवा में लगे हुए हैं।" वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सोनिया गांधी ने कांग्रेसियों का आभार भी जताया। उन्होंने कहा, "लॉकडाउन के चलते जो गरीब मजदूर अपने-अपने गांव की ओर रवाना हुए, और उनकी परेशानियों को दूर करने का काम हमारे कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर किया है। आज भी, देश भर में, हर जिले के कांग्रेस के सिपाही इस काम में लगे हुए हैं। आप सब के समर्पण के लिए मैं अत्यंत आभारी हूं।" सोनिया ने आगे कहा, "आप जानते ही होंगे कि मैंने और पूर्व अध्यक्ष राहुल जी ने प्रधानमंत्री जी को चिट्ठियां लिख कर कुछ सुझाव भी दिए। हमारी आशा है की सरकार इस चुनौती का सामना करने के लिए योजना बनाए। सबसे ज्यादा पीड़ा और परेशानी गरीबों, किसानों और मजदूरों को हो रही है।" इस बातचीत के वक्त सोनिया ने देश की अर्थव्यवस्था पर भी बात की. उन्होंने कहा, "लॉकडाउन की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी- लगता है कि अब और मुश्किलें बढ़ेंगी. इन परिस्थितियों के लिए हमें तैयार होना पड़ेगा। जनता के दुख में, जनता का साथ देना होगा और उनकी परेशानियों को दूर करने का पूरा प्रयास करना होगा। सोनिया ने इस दौरान कहा, "मैं आपसे जानना चाहती हूं कि आपके प्रदेशों में कोरोना महामारी को फैलने से रोकने का काम कैसे चल रहा है? क्या आप सरकार के प्रयासों से संतुष्ट हैं? कांग्रेस पार्टी इस समय किस तरह से अपने संगठन द्वारा लड़ाई में और ज्यादा योगदान दे सकती है? और अब तक आप सब ने अपने-अपने प्रदेशों में क्या काम किया है?" अंत में सोनिया गांधी ने कहा कि मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि आप सब अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें और सब कार्यकर्ताओं को सूचना दें कि कोरोना से बचने के लिये सारे नियमों का पूरी तरह से पालन करें। 14 अप्रैल को डॉ बी.आर. अंबेडकर जी की जयंती है, इस अवसर पर हम सब उनके प्रति अपना सम्मान व्यक्त करते हैं और हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।