कोरोना का कहर: दिल्ली में मिले 1,366 नए मरीज, आंकड़ा पहुंचा 31 हजार के पार

corona

नई दिल्ली। देश की राजधानी में कोरोना का संकट गहराता जा रहा है। हर दिन वहां पर कोरोना सं​क्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। वहां पर 1,366 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं, अब दिल्ली में यह आंकड़ा 31 हजार के पार पहुंच गया है और 905 लोग इस बीमारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन में बताया गया है कि मंगलवार को कोरोना संक्रमित 1,366 नए मरीज मिले हैं।

Corona Havoc 1366 New Patients Found In Delhi Figure Crossed 31 Thousand :

अब भी 18,543 लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 11,861 मरीज या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई या वे कहीं और चले गए हैं। मंगलवार को कोई स्वास्थ्य बुलेटिन जारी नहीं किया गया था। दिल्ली सरकार ने बताया कि आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले में देश की राजधानी की स्थिति बद से बदतर होने वाली है।

दिल्ली सरकार ने दबी जुबान में यह कहना शुरू कर दिया है कि यहां कम्युनिटी स्प्रेड के हालात पैदा हो गए हैं। मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ मीटिंग के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि 30 जून तक दिल्ली में एक लाख, 15 जुलाई तक 2 लाख और 31 जुलाई तक साढ़े 5 लाख कोरोना संक्रमण के मामले होंगे।

उन्होंने कहा कि यही हालात रहे तो 31 जुलाई तक हमें दिल्ली के अस्पतालों में 80 हजार बेडों की जरूरत होगी। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बैठक के बाद कहा कि दिल्ली में 31 जुलाई तक साढ़े पांच लाख कोविड-19 के मामले होंगे। ऐसे में हमें तक 80 हजार बेड्स की जरूरत पड़ेगी।

नई दिल्ली। देश की राजधानी में कोरोना का संकट गहराता जा रहा है। हर दिन वहां पर कोरोना सं​क्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। वहां पर 1,366 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं, अब दिल्ली में यह आंकड़ा 31 हजार के पार पहुंच गया है और 905 लोग इस बीमारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन में बताया गया है कि मंगलवार को कोरोना संक्रमित 1,366 नए मरीज मिले हैं। अब भी 18,543 लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 11,861 मरीज या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई या वे कहीं और चले गए हैं। मंगलवार को कोई स्वास्थ्य बुलेटिन जारी नहीं किया गया था। दिल्ली सरकार ने बताया कि आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले में देश की राजधानी की स्थिति बद से बदतर होने वाली है। दिल्ली सरकार ने दबी जुबान में यह कहना शुरू कर दिया है कि यहां कम्युनिटी स्प्रेड के हालात पैदा हो गए हैं। मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ मीटिंग के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि 30 जून तक दिल्ली में एक लाख, 15 जुलाई तक 2 लाख और 31 जुलाई तक साढ़े 5 लाख कोरोना संक्रमण के मामले होंगे। उन्होंने कहा कि यही हालात रहे तो 31 जुलाई तक हमें दिल्ली के अस्पतालों में 80 हजार बेडों की जरूरत होगी। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बैठक के बाद कहा कि दिल्ली में 31 जुलाई तक साढ़े पांच लाख कोविड-19 के मामले होंगे। ऐसे में हमें तक 80 हजार बेड्स की जरूरत पड़ेगी।