दिल्ली में क्या फिर बढ़ेगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कही यह बड़ी बात

satendar
दिल्ली में क्या फिर बढ़ेगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कही यह बड़ी बात

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है। वहां पर कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इस बीच दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने स्पष्ट किया कि ​यहां लॉकडाउन नहीं बढ़ाया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया कर्मियों द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या राजधानी में लॉकडाउन फिर से बढ़ाने पर कोई चर्चा हुई है उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि नहीं, लॉकडाउन का विस्तार नहीं किया जाएगा।

Corona Havoc In Delhi Health Minister Says Lockdown Will Not Increase :

​दिल्ली नगर निगम के दिल्ली में COVID-19 से होने वाली 2,098 मौतों के दावे पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल से जिन लोगों का अंतिम संस्कार किया जाता है उनमें दो तरह के लोग होते हैं।

एक जिनकी कोविड से मौत हुई है और दूसरे वो जो कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज होते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों के लिए पर्ची एक ही होती है कि कोविड प्रोटोकॉल से उनका अंतिम संस्कार किया जाए। साथ ही हमारे पास अस्पताल रिपोर्ट करते हैं तो कई बार रिपोर्टिंग 2-4 दिन आगे-पीछे भी होती है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस को इस सदी की सबसे बड़ी त्रासदी करार देते हुए गुरुवार को कहा था कि यह युद्ध जैसी स्थिति है और दिल्ली सरकार जरूरतों की पूर्ति के लिए और डॉक्टरों एवं चिकित्साकर्मियों को अपने साथ लाने के लिए हर तरीका आजमाएगी। उन्होंने कहा कि इससे पहले 1918 में दुनिया ने स्पेनिश फ्लू देखा था जोकि 1920 तक रहा। कोरोना वायरस इस सदी की सबसे बड़ी त्रासदी है।

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है। वहां पर कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इस बीच दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने स्पष्ट किया कि ​यहां लॉकडाउन नहीं बढ़ाया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया कर्मियों द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या राजधानी में लॉकडाउन फिर से बढ़ाने पर कोई चर्चा हुई है उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि नहीं, लॉकडाउन का विस्तार नहीं किया जाएगा। ​दिल्ली नगर निगम के दिल्ली में COVID-19 से होने वाली 2,098 मौतों के दावे पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल से जिन लोगों का अंतिम संस्कार किया जाता है उनमें दो तरह के लोग होते हैं। एक जिनकी कोविड से मौत हुई है और दूसरे वो जो कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज होते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों के लिए पर्ची एक ही होती है कि कोविड प्रोटोकॉल से उनका अंतिम संस्कार किया जाए। साथ ही हमारे पास अस्पताल रिपोर्ट करते हैं तो कई बार रिपोर्टिंग 2-4 दिन आगे-पीछे भी होती है। स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस को इस सदी की सबसे बड़ी त्रासदी करार देते हुए गुरुवार को कहा था कि यह युद्ध जैसी स्थिति है और दिल्ली सरकार जरूरतों की पूर्ति के लिए और डॉक्टरों एवं चिकित्साकर्मियों को अपने साथ लाने के लिए हर तरीका आजमाएगी। उन्होंने कहा कि इससे पहले 1918 में दुनिया ने स्पेनिश फ्लू देखा था जोकि 1920 तक रहा। कोरोना वायरस इस सदी की सबसे बड़ी त्रासदी है।