कोरोना का कहर: जमात में पहुंचे 220 विदेशी नागरिकों के वीजा में गड़बड़ी, होगी कार्रवाई

Jamaat
कोरोना संकट: पश्चिमी यूपी के 38 हजार लोग STF के रडार पर, जमातियों से निकला सम्पर्क

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने निजामुद्दीन के तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए विदेशियों में से 220 के वीजा में गड़बड़ी पाई गई है। अब इन पर गृह मंत्रालय का शिकंजा कसेगा। गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इन लोगों के वीजा निरस्त करके कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Corona Havoc Visa Disturbances Of 220 Foreign Nationals Arriving In Jamaat Action Will Be Taken :

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के मरकज से कोरोना के 24 मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया था। जिसके बाद 350 लोगों को राजधानी के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। निजामुद्दीन मस्जिद वाले इलाके को सील कर दिया गया है। इनके संपर्क में आए 1600 लोगों को पुलिस तलाश रही है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग और विश्व स्वास्थय संगठन की टीम ने इलाके का दौरा किया है। पुलिस ने महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

निजामुद्दीन इलाके में जमात मुख्यालय में रुके लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने से हालात बिगड़ गए। 34 को एम्स झज्जर भेजा गया। लोकनायक अस्पताल में 153 को भर्ती किया गया है। राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में 65 लोगों को भर्ती कराया गया है। वहीं उत्तरी रेलवे के आइसोलेशन केंद्र में भी 97 लोगों को रखा गया है। भर्ती लोगों में लगभग ढ़ाई सौ ऐसे हैं जिनमे कोरोनावायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। कुछ लोगों को खांसी जुखाम और तेज बुखार की शिकायत है।

स्वास्थ्य विभाग को यह जानकारी मिलने के बाद निजामुद्दीन की उस मस्जिद को बंद कर दिया गया है और सेनेटाइज करवाया जा रहा है। साथ ही पुलिस ड्रोन के माध्यम से भी ऐसे लोगों की तलाश करने और नज़र रखने का काम भी कर रही है। इसके लिए इलाके में ड्रोन उड़ाए जा रहे हैं। दिल्ली सरकार और डब्ल्यूएचओ की टीम ने सोमवार सुबह ही निजामुद्दीन की दोनों मस्जिदों को बंद करा दिया। इन मस्जिदों को सेनेटाइज भी करवाया गया है। इलाके में पुलिस के अलावा डॉक्टरों की टीम भी तैनात की गई हैं।

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने निजामुद्दीन के तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए विदेशियों में से 220 के वीजा में गड़बड़ी पाई गई है। अब इन पर गृह मंत्रालय का शिकंजा कसेगा। गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इन लोगों के वीजा निरस्त करके कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के मरकज से कोरोना के 24 मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया था। जिसके बाद 350 लोगों को राजधानी के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। निजामुद्दीन मस्जिद वाले इलाके को सील कर दिया गया है। इनके संपर्क में आए 1600 लोगों को पुलिस तलाश रही है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग और विश्व स्वास्थय संगठन की टीम ने इलाके का दौरा किया है। पुलिस ने महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। निजामुद्दीन इलाके में जमात मुख्यालय में रुके लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने से हालात बिगड़ गए। 34 को एम्स झज्जर भेजा गया। लोकनायक अस्पताल में 153 को भर्ती किया गया है। राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में 65 लोगों को भर्ती कराया गया है। वहीं उत्तरी रेलवे के आइसोलेशन केंद्र में भी 97 लोगों को रखा गया है। भर्ती लोगों में लगभग ढ़ाई सौ ऐसे हैं जिनमे कोरोनावायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। कुछ लोगों को खांसी जुखाम और तेज बुखार की शिकायत है। स्वास्थ्य विभाग को यह जानकारी मिलने के बाद निजामुद्दीन की उस मस्जिद को बंद कर दिया गया है और सेनेटाइज करवाया जा रहा है। साथ ही पुलिस ड्रोन के माध्यम से भी ऐसे लोगों की तलाश करने और नज़र रखने का काम भी कर रही है। इसके लिए इलाके में ड्रोन उड़ाए जा रहे हैं। दिल्ली सरकार और डब्ल्यूएचओ की टीम ने सोमवार सुबह ही निजामुद्दीन की दोनों मस्जिदों को बंद करा दिया। इन मस्जिदों को सेनेटाइज भी करवाया गया है। इलाके में पुलिस के अलावा डॉक्टरों की टीम भी तैनात की गई हैं।