1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. भारत के आगे झुका ब्रिटेन, जारी की New Travel Advisory, Covishield Vaccine को दी मंजूरी

भारत के आगे झुका ब्रिटेन, जारी की New Travel Advisory, Covishield Vaccine को दी मंजूरी

भारत (India) के दबाव के बाद आखिरकार ब्रिटेन (Britain) को झुकने को मजबूर होना पड़ा है। ब्रिटेन (Britain) ने भारत में बनी कोरोना वैक्‍सीन कोविशील्‍ड (Covishield ) को मान्‍यता दे दी है। ब्रिटेन ने अपने फैसले को पलटते हुए नई ट्रैवल एडवायजरी (New Travel Advisory)  जारी की है। बता दें कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (MEA S Jaishankar) ने ब्रिटेन के समक्ष कोविशील्ड (Covishield) को मान्यता न देने का मुद्दा उठाया था। विदेश मंत्री ने बताया था कि कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की गैर-मान्यता एक भेदभावपूर्ण नीति है। इसके बाद ब्रिटेन ने इसको जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्‍ली। भारत (India) के दबाव के बाद आखिरकार ब्रिटेन (Britain) को झुकने को मजबूर होना पड़ा है। ब्रिटेन (Britain) ने भारत में बनी कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) कोविशील्‍ड (Covishield ) को मान्‍यता दे दी है। ब्रिटेन ने अपने फैसले को पलटते हुए नई ट्रैवल एडवायजरी (New Travel Advisory)  जारी की है। बता दें कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (MEA S Jaishankar) ने ब्रिटेन के समक्ष कोविशील्ड (Covishield) को मान्यता न देने का मुद्दा उठाया था। विदेश मंत्री ने बताया था कि कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की गैर-मान्यता एक भेदभावपूर्ण नीति है। इसके बाद ब्रिटेन ने इसको जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया है।

पढ़ें :- नौतनवा:राजीव गांधी फार्मेसी कॉलेज में लाला लाजपत राय की मनाई गई जयंती 

बता दें कि ब्रिटेन की यात्रा के संबंध में फिलहाल लाल, एम्बर और हरे रंग की तीन अलग अलग सूचियां बनाई गई हैं। खतरे के अनुसार अलग-अलग देशों को अलग-अलग सूची में रखा गया है। चार अक्टूबर से सभी सूचियों को मिला दिया जाएगा और केवल लाल सूची बाकी रहेगी। लाल सूची में शामिल देशों के यात्रियों को ब्रिटेन की यात्रा पर पाबंदियों का सामना करना पड़ेगा। भारत अब भी एम्बर सूची में है।

ऐसे में एम्बर सूची को खत्म करने का मतलब है कि केवल कुछ यात्रियों को ही पीसीआर जांच से छूट मिलेगी। जिन देशों के कोविड-19 (COVID-19) टीकों को ब्रिटेन में मंजूरी होगी उसमें अभी तक भारत शामिल नहीं था। इसका मतलब यह था कि जो भारतीय सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Indian Serum Institute of India) का कोविशील्ड टीका (Covishield Vaccine)  लगवा चुके होंगे उन्हें अनिवार्य रूप से पीसीआर जांच करानी होगी तथा तय पतों पर क्वारंटीन में रहना होगा।

इससे पहले ब्रिटेन ने सोमवार को कहा था कि वह भारतीय प्राधिकारियों द्वारा जारी कोविड-19 (COVID-19) रोधी टीकाकरण प्रमाणपत्र (Vaccination Certificate) की स्वीकार्यता को विस्तार देने पर भारत के साथ चर्चा कर रहा है। चार अक्टूबर से लागू होने वाले नियमों को लेकर भारत में चिंताओं के बारे में पूछे जाने पर ब्रिटिश उच्चायोग (British High Commission) के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटेन इस मुद्दे पर भारत (India) से बातचीत कर रहा है । जितनी जल्दी संभव हो सके अंतरराष्ट्रीय यात्रा ( International Travel) को फिर से खोलने के प्रति प्रतिबद्ध है।

पढ़ें :- महराजगंज:एमएलसी चुनाव के मतदान स्थलों की तैयारियों का डीएम व एसपी ने लिया जायजा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...