1. हिन्दी समाचार
  2. देश के कुल मामलों के 50 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से: स्वास्थ्य मंत्रालय

देश के कुल मामलों के 50 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से: स्वास्थ्य मंत्रालय

Corona Update Maharashtra And Tamil Nadu Account For 50 Percent Of The Countrys Total Cases Ministry Of Health

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: देश में कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में स्वास्थ्य मंत्रालय के वोएसडी राजेश भूषण ने जानकारी देते हुए बताया कि, ‘देश में आए कोरोना वायरस के कुल मामलों का 86 प्रतिशत 10 राज्यों तक ही सीमित है. इनमें से दो मामलों में 50% मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु के हैं और आठ अन्य राज्यों में 36% मामले हैं.’

पढ़ें :- Kylie Jenner ने शेयर की Halloween पार्टी की हॉट तस्वीरें, सोशल मीडिया पर मचा कोहराम

20 राज्यों में सबसे ज्यादा रिकवरी दर
स्वास्थ्य मंत्रालय के ओएसडी ने आगे कहा, ‘ देश के ऐसे 20 राज्य हैं जिनकी रिकवरी दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है. भारत का राष्ट्रीय औसत 63% है. इन राज्यों में से उत्तर प्रदेश में 64%, ओडिशा में 67%, असम में 65%, गुजरात में 70%, तमिलनाडु में 65% की वसूली दर सबसे ज्यादा है’. उन्होंने कहा, ‘ मई में, रिकवरी दर लगभग 26 प्रतिशत थी जो मई अंत तक बढ़कर 48 प्रतिशत हो गई और देश में 12 जुलाई तक बढ़कर 63 प्रतिशत हो गई.’

एक्टिव केस से ज्यादा, ठीक होने वालो की संख्या
राजेश भूषण ने कहा, ‘2 मई से 30 मई के बीच, ठीक होने के मामलों की तुलना में सक्रिय COVID-19 मामलों की संख्या अधिक थी. उसके बाद, सक्रिय और ठीक होने के मामलों की संख्या के बीच अंतर बढ़ रहा है. आज, बरामद मामलों की संख्या सक्रिय मामलों की तुलना में 1.8 गुना अधिक है.’

दो भारतीय टिको पर काम शुरू
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा, ‘ 2 भारतीय स्वदेशी कंपनियां टीके बनाने में हैं. वे चूहों, चूहों और खरगोशों में सफल विषाक्तता अध्ययन से गुजर चुके हैं. डीसीजीआई को डेटा प्रस्तुत किया गया, जिसके बाद इन दोनों को इस महीने की शुरुआत में प्रारंभिक चरण के मानव परीक्षण शुरू करने की मंजूरी मिल गई.’

उन्होंने कहा, ‘ इन उम्मीदवारों ने अपनी साइटों को तैयार कर लिया है और वे लगभग 1000 मानव स्वयंसेवकों पर विभिन्न स्थानों पर अपना नैदानिक अध्ययन कर रहे हैं.’

पढ़ें :- बिहार चुनाव: जेपी नड्डा ने विपक्ष पर साधा निशाना, पूछा-क्या यह महागठबंधन विकास सुनिश्चित करेगा?

डब्ल्यूएचओ के निर्देशों का पालन
स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा, ‘ डब्ल्यूएचओ का कहना है कि यदि आप प्रति दिन 140 लोगों का परीक्षण प्रति 10 लाख पर कर रहे हैं, तो यह व्यापक परीक्षण का संकेत होगा. 22 राज्य हैं जो प्रति दिन प्रति मिलियन 140 या उससे अधिक परीक्षणों का परीक्षण करते हैं. हम राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को WHO के मानदंडों को पूरा करने के लिए परीक्षण बढ़ाने की सलाह देते हैं.’

रूस ने टिके का सफल परीक्षण किया
बलराम भार्गव ने कहा, ‘रूस ने एक टीका लगाया है जो अपने शुरुआती चरणों में सफल रहा है. उन्होंने इसके विकास को तेज किया है. चीन ने अपने टीके कार्यक्रम को तेज कर दिया है और चीन में उस टीके के साथ अपनी पढ़ाई भी तेज कर दी है.’

उन्होंने कहा, ‘अमेरिका, जैसा कि आज पढ़ा गया है, ने अपने दो वैक्सीन उम्मीदवारों को उपवास कर दिया है. यूके यह भी देख रहा है कि यह ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के उम्मीदवार को कैसे फास्ट कर सकता है, कैसे इसे मानव उपयोग के लिए फास्टट्रैक कर सकता है.’

कोरोना एक छोटी बूंद संक्रमण
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक ने कहा, ‘कोरोना वायरस एक छोटी बूंद संक्रमण है. कई वैज्ञानिकों द्वारा परिकल्पना और सुझाव दिए गए हैं कि माइक्रोड्रोप्लेट्स (आकार में 5 माइक्रोन से कम) के साथ कुछ हवाई प्रसारण हो सकते हैं. भौतिक अवशेषों और मास्क का उपयोग महत्वपूर्ण है.’

पढ़ें :- Halloween मे Kim Kardashian ने कुछ इस तरह बिखेरे जलवे, देखने वालों की रातों की उड़ी नींद

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...