1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किया जाएगा : सीएम योगी

प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किया जाएगा : सीएम योगी

Corona Vaccination Work In The State Will Be Conducted As Per The Guidelines Of The Government Of India Cm Yogi

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदीत्यनाथ प्रदेश के सभी 75 जिलों में कोरोना वैक्सीन लगाने के पूर्वाभ्यास को लेकर बेहद गंभीर है। मुख्यमंत्री ने कोर टीम के साथ समीक्षा बैठक में सभी जिलों के जिलाधिकारीयों को गंभीरता से कार्य करने का निर्देश दिया है। सबको पूर्वाभ्यास स्थल पर 45 मिनट पहले पहुचनें का निर्देश है।

पढ़ें :- गायत्री प्रजापति के परिजनों पर कसेगा ईड़ी का शिकंजा

इससे पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन कार्य को सुगमतापूर्वक संचालित करने में सुविधा होगी। सरकार 5 जनवरी से प्रदेश में वैक्सीन का पूर्वाभ्यास शुरू करेगी। 14 जनवरी मकर संक्रांति से वैक्सीनेशन की प्रक्रिया प्रारम्भ होगी। प्रदेश में पहले चरण में नौ लाख हेल्थ वर्कर और दूसरे चरण में 20 लाख फ्रंटलाइन वर्कर को कोरोना वैक्सीन का टीका लगेगा।

हर हफ्ते में दो दिन टीका लगाया जाएगा। अगर पहला चरण 15 से 20 जनवरी के बीच शुरू हुआ तो दूसरा चरण फरवरी तक पूरा हो जाएगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोरोना वैक्सीन की सुरक्षित स्टोरेज, प्रभावी कोल्ड चेन व्यवस्था तथा सुगम ट्रांसपोर्टेशन के लिए सभी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किया जाएगा। सरकार ने हर वैक्सीन सेंटर में तीन कमरों की व्यवस्था की है। पहला वेटिंग रूम, दूसरे कमरे में वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरा कमरा ऑब्जर्वेशन रूम होगा, जहां वैक्सीन लगने के बाद आधे घंटे तक सभी को निगरानी के लिए रोका जाएगा।

वैक्सीन सेंटर्स तक टीका पहुंचाने के लिए भी हाईटेक आइस बॉक्स मंगाए गए हैं।सरकार ने हर वैक्सीन सेंटर में तीन कमरों की व्यवस्था की है। पहला वेटिंग रूम, दूसरे कमरे में वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरा कमरा ऑब्जर्वेशन रूम होगा, जहां वैक्सीन लगने के बाद आधे घंटे तक सभी को निगरानी के लिए रोका जाएगा।

पढ़ें :- प्याज ने फिर रुलाया पहुंचा 70 रुपये किलो

वैक्सीन सेंटर्स तक टीका पहुंचाने के लिए भी हाईटेक आइस बॉक्स मंगाए गए हैं।भारत सरकार ने ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...