कोरोना वायरस: 21 दिन से भी आगे बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन का समय?

lokdown
कोरोना वायरस: 21 दिन से भी आगे बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन का समय?

नई दिल्ली। जिस तरह से भारत में भी तेजी के साथ कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है ओर सरकार ने तीन महीने के पैकेज का ऐलान किया है उसे देखकर तो ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सरकार लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ा सकती है। बता दें कि मरीजो की संख्या लगभग 650 तक पंहुच गयी है और अभी तक इससे 16 लोगों की मौत भी हो चुकी है। फिल्हाल सरकार ने अभी 21 दिनो के लिए ही देश को लॉकडाउन किया है।

Corona Virus Can The Lockdown Time Be Extended Beyond 21 Days :

जहां पीएम मोदी ने 21 दिनो के लॉकडाउन की घोषणा करते हुए 15 हजार करोड़ रूपये कोरोना वायरस के चलते खर्च करने का ऐलान किया था वहीं लौकडाउन के दूसरे दिन मोदी सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया, लेकिन जिस तरह हर योजना को अगले तीन महीने के लिए तैयार किया गया उससे इस बात की संभावनाओं को बल मिलने लगा है कि क्या ये लॉकडाउन का संकट 21 दिनों से बड़ा होने वाला है।

लॉकडाउन के चलते जिस तरह से परेशानियां सबके सामने आ रही थी उसे देखते हुए विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया था, यही नही विपक्ष ने आर्थिक पैकेज की मांग की थी। जिसके बाद गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सामने आईं और 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया। इस राहत पैकेज में महिलाओं के खाते में राशि, मुफ्त गैस सिलेंडर, किसानों को आर्थिक मदद, कर्मचारियों के ईपीएफ में मदद जैसे बड़े ऐलान किए, लेकिन सबसे खास बात ये रही हर चीज की तैयारी 3 महीने के लिए की गई है।

हालाकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कई बार इसका जिक्र किया है कि विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग जारी रखने की बात कही है। इसी वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है। लेकिन जिस तरह से इटली और स्पेन में भयावह स्थिति बनी हुई है उससे तो ऐसा ही प्रतीत हो रहा है कि भारत में भी समय सीमा बढ़ाई जा सकती है।

नई दिल्ली। जिस तरह से भारत में भी तेजी के साथ कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है ओर सरकार ने तीन महीने के पैकेज का ऐलान किया है उसे देखकर तो ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सरकार लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ा सकती है। बता दें कि मरीजो की संख्या लगभग 650 तक पंहुच गयी है और अभी तक इससे 16 लोगों की मौत भी हो चुकी है। फिल्हाल सरकार ने अभी 21 दिनो के लिए ही देश को लॉकडाउन किया है। जहां पीएम मोदी ने 21 दिनो के लॉकडाउन की घोषणा करते हुए 15 हजार करोड़ रूपये कोरोना वायरस के चलते खर्च करने का ऐलान किया था वहीं लौकडाउन के दूसरे दिन मोदी सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया, लेकिन जिस तरह हर योजना को अगले तीन महीने के लिए तैयार किया गया उससे इस बात की संभावनाओं को बल मिलने लगा है कि क्या ये लॉकडाउन का संकट 21 दिनों से बड़ा होने वाला है। लॉकडाउन के चलते जिस तरह से परेशानियां सबके सामने आ रही थी उसे देखते हुए विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया था, यही नही विपक्ष ने आर्थिक पैकेज की मांग की थी। जिसके बाद गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सामने आईं और 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया। इस राहत पैकेज में महिलाओं के खाते में राशि, मुफ्त गैस सिलेंडर, किसानों को आर्थिक मदद, कर्मचारियों के ईपीएफ में मदद जैसे बड़े ऐलान किए, लेकिन सबसे खास बात ये रही हर चीज की तैयारी 3 महीने के लिए की गई है। हालाकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कई बार इसका जिक्र किया है कि विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग जारी रखने की बात कही है। इसी वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है। लेकिन जिस तरह से इटली और स्पेन में भयावह स्थिति बनी हुई है उससे तो ऐसा ही प्रतीत हो रहा है कि भारत में भी समय सीमा बढ़ाई जा सकती है।