कोरोना वायरस: केन्द्र सरकार ने घोषित किया राष्ट्रीय आपदा, मृतकों के परिवार को 4 लाख की आर्थिक मदद

modi sarkar
पीएम मोदी की मंत्री-अधिकारियों संग अहम बैठक, रेल-हवाई यात्रा और लॉकडाउन पर चर्चा

नई दिल्ली। लगातार देश में बढ़ते जा रहे कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर मोदी सरकार ने देश में राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है। केन्द्र सरकार ने ऐलान किया है कि ​इस वायरस की चपेट में आने वाले सभी मृतकों के परिवार वालों की 4 लाख की आर्थिक मदद की जायेगी।

Corona Virus Central Government Declares National Disaster Financial Assistance Of 4 Lakh To Family Of The Dead :

भारत में कोरोना वायरस के अब तक 85 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें दो लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है। इसके बढ़ते प्रसार के बीच केंद्र सरकार ने देश में आपदा घोषित करने का फैसला किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, यह फैसला इसलिए किया गया है ताकि पीड़ितों को स्टेट डिजास्टर रेस्पॉन्स फंड यानी एसडीआरएफ के अंतर्गत मदद दी जा सके।

कोरोना को आपदा घोषित करते ही केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है कि इस वायरस के चपेट में आए लोगों की अगर मौत हो जाती है तो उनके परिजनों को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इनमें उन लोगों के परिजनों को भी आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान शामिल है जिनकी मौत कोरोना राहत अभियान या उससे जुड़ी गतिविधि के कारण हुई हो।

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बताया गया, ‘सरकार ने कोविड-19 को आपदा की तरह लेने का फैसला किया है ताकि एसडीआरएफ के अंतर्गत सहायता उपलब्ध कराई जा सके।’ आगे कहा गया, ‘कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी जिनमें वो लोग भी शामिल हैं जिनकी मौत राहत अभियान से या इससे जुड़ी गतिविधि में हुई हो।’

नई दिल्ली। लगातार देश में बढ़ते जा रहे कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर मोदी सरकार ने देश में राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है। केन्द्र सरकार ने ऐलान किया है कि ​इस वायरस की चपेट में आने वाले सभी मृतकों के परिवार वालों की 4 लाख की आर्थिक मदद की जायेगी। भारत में कोरोना वायरस के अब तक 85 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें दो लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है। इसके बढ़ते प्रसार के बीच केंद्र सरकार ने देश में आपदा घोषित करने का फैसला किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, यह फैसला इसलिए किया गया है ताकि पीड़ितों को स्टेट डिजास्टर रेस्पॉन्स फंड यानी एसडीआरएफ के अंतर्गत मदद दी जा सके। कोरोना को आपदा घोषित करते ही केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है कि इस वायरस के चपेट में आए लोगों की अगर मौत हो जाती है तो उनके परिजनों को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इनमें उन लोगों के परिजनों को भी आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान शामिल है जिनकी मौत कोरोना राहत अभियान या उससे जुड़ी गतिविधि के कारण हुई हो। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बताया गया, 'सरकार ने कोविड-19 को आपदा की तरह लेने का फैसला किया है ताकि एसडीआरएफ के अंतर्गत सहायता उपलब्ध कराई जा सके।' आगे कहा गया, 'कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी जिनमें वो लोग भी शामिल हैं जिनकी मौत राहत अभियान से या इससे जुड़ी गतिविधि में हुई हो।'