कोरोना वायरस: चीन ने ‘खास दोस्त’ पाक को लगाया चूना, भेजा अंडरवेयर से बना मास्क

china-mask-pakistan

इस्लामाबाद : कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे पाकिस्तान को उसके ‘ऑल वेदर फ्रेंड’ चीन ने ही चूना लगा दिया। चीन ने मेडिकल सप्लाई भेजने का वादा किया था और वादे के मुताबिक उसने मेडिकल सप्लाई भेजी भी, लेकिन जब खोल कर देखा गया तो एन-95 मास्क की जगह अंडरवेयर से बने मास्क नजर आए। उल्लेखनीय है कि यूरोप के कई देशों ने भी इससे पहले शिकायत की थी कि चीन से भेजे गए मास्क और किट खराब गुणवत्ता के हैं। स्पेन और नीदरलैंड्स ने तो मेडिकल सप्लाई वापस करने का भी फैसला कर लिया।

Corona Virus China Lime Pak Special Friend Pak Sent Mask Made Of Underware News :

चीन ने पिछले दिनों पाकिस्तान से वादा किया था कि वह उसे एन-95 मास्क भेजेगा। पाक पीएम इमरान खान आए दिन कोरोना वायरस से लड़ने की तैयारियों को लेकर अपने भाषणों में चीन का गुणगान करते दिख जाते हैं, लेकिन उन्हें पता नहीं था कि इस गुणगान से उन्हें कोई फायदा नहीं होने वाला।

पाक मीडिया के मुताबिक, जब चीन से मेडिकल सप्लाई पाकिस्तान पहुंचा तो मेडिकल स्टाफ उसे खोल कर हैरान रह गए क्योंकि ये अंडरवेयर से बने मास्क थे। हैरानी की बात यह भी है कि सिंध की प्रांतीय सरकार ने बिना जांच किए ही अस्पतालों में मास्क भेज दिया।

इससे पहले चीन ने आगे बढ़कर मेडिकल सप्लाई भेजने के लिए गिलगित बाल्टीस्तान से लगी सीमा को खोलने का भी अनुरोध किया था। चीनी दूतावास ने पाक विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में कहा था कि शिजियांग उइगुर स्वायत्त क्षेत्र पाकिस्तान को मेडिकल सप्लाई भेजना चाहता है। इस अनुरोध पर पाक भी फूला नहीं समाया, लेकिन उसे कहां पता था कि चीन उसके साथ ठगी कर लेगा।

विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में चीन ने लिखा था कि वह उसे 2 लाख सामान्य मास्क, दो हजार एन-95 मास्क, पांच वेंटिलेटर और 2 हजार टेस्टिंग किट भेजेगा। अभी हालांकि, यह पता नहीं चल पाया है कि मास्क के अलावा किसी अन्य मेडिकल सप्लाई में कोई खामी पाई गई है या नहीं।

इस्लामाबाद : कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे पाकिस्तान को उसके ‘ऑल वेदर फ्रेंड’ चीन ने ही चूना लगा दिया। चीन ने मेडिकल सप्लाई भेजने का वादा किया था और वादे के मुताबिक उसने मेडिकल सप्लाई भेजी भी, लेकिन जब खोल कर देखा गया तो एन-95 मास्क की जगह अंडरवेयर से बने मास्क नजर आए। उल्लेखनीय है कि यूरोप के कई देशों ने भी इससे पहले शिकायत की थी कि चीन से भेजे गए मास्क और किट खराब गुणवत्ता के हैं। स्पेन और नीदरलैंड्स ने तो मेडिकल सप्लाई वापस करने का भी फैसला कर लिया। चीन ने पिछले दिनों पाकिस्तान से वादा किया था कि वह उसे एन-95 मास्क भेजेगा। पाक पीएम इमरान खान आए दिन कोरोना वायरस से लड़ने की तैयारियों को लेकर अपने भाषणों में चीन का गुणगान करते दिख जाते हैं, लेकिन उन्हें पता नहीं था कि इस गुणगान से उन्हें कोई फायदा नहीं होने वाला। पाक मीडिया के मुताबिक, जब चीन से मेडिकल सप्लाई पाकिस्तान पहुंचा तो मेडिकल स्टाफ उसे खोल कर हैरान रह गए क्योंकि ये अंडरवेयर से बने मास्क थे। हैरानी की बात यह भी है कि सिंध की प्रांतीय सरकार ने बिना जांच किए ही अस्पतालों में मास्क भेज दिया। इससे पहले चीन ने आगे बढ़कर मेडिकल सप्लाई भेजने के लिए गिलगित बाल्टीस्तान से लगी सीमा को खोलने का भी अनुरोध किया था। चीनी दूतावास ने पाक विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में कहा था कि शिजियांग उइगुर स्वायत्त क्षेत्र पाकिस्तान को मेडिकल सप्लाई भेजना चाहता है। इस अनुरोध पर पाक भी फूला नहीं समाया, लेकिन उसे कहां पता था कि चीन उसके साथ ठगी कर लेगा। विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में चीन ने लिखा था कि वह उसे 2 लाख सामान्य मास्क, दो हजार एन-95 मास्क, पांच वेंटिलेटर और 2 हजार टेस्टिंग किट भेजेगा। अभी हालांकि, यह पता नहीं चल पाया है कि मास्क के अलावा किसी अन्य मेडिकल सप्लाई में कोई खामी पाई गई है या नहीं।