लखनऊ में भी कोरोना वायरस ने दी दस्तक, पहला मरीज आया सामने, देश में अबतक 61 मरीज

corona
लखनऊ में भी कोरोना वायरस ने दी दस्तक, पहला मरीज आया सामने, देश में अबतक 61 मरीज

लखनऊ। देश में लगातार कोरोना वायरस को लेकर संख्या बढ़ती चली जा रही है। वहीं अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। लखनऊ में भी पहला पॉजिटिव केस सामने आया है। जहां कनाडा से आई महिला का रिजल्ट पॉजिटिव आया है। इसके अलावा पटना में भी चार संदिग्ध आए है, जिनके नमूने जांच के लिए भेजे गए है। बता दें कि देश में अबतक कोरोना वायरस की चपेट में आये मरीजो की संख्या 81 हो गयी है।

Corona Virus Knocked In Lucknow First Patient Came 61 Patients In The Country So Far :

केजीएमयू मेडिसिन विभाग के प्रोफ़ेसर डॉ हिमांशु के मुताबिक संक्रमित महिला टोरंटो में डॉक्टर हैं। वह 8 मार्च को अपने करीबियों से मिलने लखनऊ पहुंची थीं। उसका टेस्ट करवाया गया था, जब मंगलवार को लक्षण दिखे तो उन्हें और उनके पति को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। रिपोर्ट में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। हालांकि, उनके पति का टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव रहा। वहीं महिला डॉक्टर से 8 से 11 मार्च के बीच जिन लोगों ने मुलाकात की उनकी सूचि बनाई गई है। इन सभी के भी टेस्ट करवाये जायेंगे।

बता दें कि कोरोना के खौफ से लखनऊ में इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम) का दीक्षांत समारोह भी टाल दिया गया। उधर, पटना के पीएमसीएच और एनएमसीएच में कोरोना वायरस के दो-दो संदिग्ध भर्ती हुए है। बताया जा रहा है कि कोरोना के संदिग्धों को 14 दिन तक अलग रखने के लिए आईटीबीपी ने चार और सेंटर बनाए है। आईटीबीपी ने बीटीसी, किमिन, शिवगंगई और कारेरा में सेंटर बने है। बीटीसी में 580 संदिग्धों, किमिन में 210 संदिग्धों, शिवगंगई में 300 संदिग्धों और कारेरा में 180 संदिग्धों को रखने की व्यवस्था की गई है।

लखनऊ। देश में लगातार कोरोना वायरस को लेकर संख्या बढ़ती चली जा रही है। वहीं अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। लखनऊ में भी पहला पॉजिटिव केस सामने आया है। जहां कनाडा से आई महिला का रिजल्ट पॉजिटिव आया है। इसके अलावा पटना में भी चार संदिग्ध आए है, जिनके नमूने जांच के लिए भेजे गए है। बता दें कि देश में अबतक कोरोना वायरस की चपेट में आये मरीजो की संख्या 81 हो गयी है। केजीएमयू मेडिसिन विभाग के प्रोफ़ेसर डॉ हिमांशु के मुताबिक संक्रमित महिला टोरंटो में डॉक्टर हैं। वह 8 मार्च को अपने करीबियों से मिलने लखनऊ पहुंची थीं। उसका टेस्ट करवाया गया था, जब मंगलवार को लक्षण दिखे तो उन्हें और उनके पति को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। रिपोर्ट में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। हालांकि, उनके पति का टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव रहा। वहीं महिला डॉक्टर से 8 से 11 मार्च के बीच जिन लोगों ने मुलाकात की उनकी सूचि बनाई गई है। इन सभी के भी टेस्ट करवाये जायेंगे। बता दें कि कोरोना के खौफ से लखनऊ में इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम) का दीक्षांत समारोह भी टाल दिया गया। उधर, पटना के पीएमसीएच और एनएमसीएच में कोरोना वायरस के दो-दो संदिग्ध भर्ती हुए है। बताया जा रहा है कि कोरोना के संदिग्धों को 14 दिन तक अलग रखने के लिए आईटीबीपी ने चार और सेंटर बनाए है। आईटीबीपी ने बीटीसी, किमिन, शिवगंगई और कारेरा में सेंटर बने है। बीटीसी में 580 संदिग्धों, किमिन में 210 संदिग्धों, शिवगंगई में 300 संदिग्धों और कारेरा में 180 संदिग्धों को रखने की व्यवस्था की गई है।