कोरोना वायरस: केन्द्र सरकार के इंतजाम पर दिग्विजय सिंह ने उठाए सवाल

Digvijay Singh
भाजपा बताये गोडसे देशभक्त था याकोरोना वायरस: केन्द्र सरकार के इंतजाम पर दिग्विजय सिंह ने उठाए सवालनही-दिग्विजय सिंह

नई दिल्ली। जहां कोरोना वायरस से निपटने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा उठाये गये कदमों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने तारीफ की वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सवाल खड़े कर दिये हैं। दिग्विजय सिंह ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए देश और प्रदेश में किए गए सुरक्षा व स्वास्थ्य इंतजामों की आलोचना की है।

Corona Virus Questions Raised By Digvijay Singh On Central Governments Arrangements :

दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा है कि पूरे देश में डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को कोरोनावायरस से बचाव के लिए पीपीई मॉस्क और दस्तानों की जो व्यवस्था करनी चाहिए, वह नहीं हुआ। टेस्टिंग किट भी नहीं है। भोपाल में केवल एम्स में टेस्टिंग किट है, वह भी एक दिन में केवल 30 से 40 टेस्ट ही कर सकती है।

उन्होंने एक ट्वीट में कोरिया और सिंगापुर में वायरस पर पाए गए नियंत्रण का जिक्र करते हुए कहा कि कोरिया और सिंगापुर ने सबसे प्रभावी ढंग से कोरोनावायरस को नियंत्रित किया है। वह कैसे, प्रभावशाली ढंग से समय पर लॉकडाउन, जिस क्षेत्र में मरीज पाया गया, उस क्षेत्र को पूरे प्रभावी ढंग से अलग कर दिया और भारी मात्रा में टेस्टिंग किट शहरों में रखे गए और प्रयोगशालों की व्यवस्था की।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कहा कि जब चीन, कोरिया, सिंगापुर ये सब कर रहे थे, राहुल गांधी फरवरी महीने से इस खतरे से मोदी जी को आगाह कर रहे थे, लेकिन भाजपा अपने राजनीतिक एजेंडे में व्यस्त थी। कम से कम अब संपूर्ण मेडिकल स्टाफ को बचाव के संसाधन व अधिक से अधिक मात्रा में टेस्टिंग किट उपलब्ध कराने चाहिए। उन्होने कहा कि “मैंने मप्र सरकार से अनुरोध किया है कि वह तत्काल अधिक से अधिक और जल्दी से जल्दी टेस्ट करने की मशीन खरीदने के आदेश देने का कष्ट करे।”

नई दिल्ली। जहां कोरोना वायरस से निपटने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा उठाये गये कदमों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने तारीफ की वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सवाल खड़े कर दिये हैं। दिग्विजय सिंह ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए देश और प्रदेश में किए गए सुरक्षा व स्वास्थ्य इंतजामों की आलोचना की है। दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा है कि पूरे देश में डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को कोरोनावायरस से बचाव के लिए पीपीई मॉस्क और दस्तानों की जो व्यवस्था करनी चाहिए, वह नहीं हुआ। टेस्टिंग किट भी नहीं है। भोपाल में केवल एम्स में टेस्टिंग किट है, वह भी एक दिन में केवल 30 से 40 टेस्ट ही कर सकती है। उन्होंने एक ट्वीट में कोरिया और सिंगापुर में वायरस पर पाए गए नियंत्रण का जिक्र करते हुए कहा कि कोरिया और सिंगापुर ने सबसे प्रभावी ढंग से कोरोनावायरस को नियंत्रित किया है। वह कैसे, प्रभावशाली ढंग से समय पर लॉकडाउन, जिस क्षेत्र में मरीज पाया गया, उस क्षेत्र को पूरे प्रभावी ढंग से अलग कर दिया और भारी मात्रा में टेस्टिंग किट शहरों में रखे गए और प्रयोगशालों की व्यवस्था की। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कहा कि जब चीन, कोरिया, सिंगापुर ये सब कर रहे थे, राहुल गांधी फरवरी महीने से इस खतरे से मोदी जी को आगाह कर रहे थे, लेकिन भाजपा अपने राजनीतिक एजेंडे में व्यस्त थी। कम से कम अब संपूर्ण मेडिकल स्टाफ को बचाव के संसाधन व अधिक से अधिक मात्रा में टेस्टिंग किट उपलब्ध कराने चाहिए। उन्होने कहा कि “मैंने मप्र सरकार से अनुरोध किया है कि वह तत्काल अधिक से अधिक और जल्दी से जल्दी टेस्ट करने की मशीन खरीदने के आदेश देने का कष्ट करे।”