कोरोना वायरस: सपा नेता का बयान- राशन चाहिए या टीवी पर रामायण

i p singh
कोरोना वायरस: सपा नेता का बयान राशन चाहिए या टीवी पर रामायण

लखनऊ। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में 21 दिनो का लॉक डाउन है। देश में लगातार कोरोना से संक्रमित मरीजो की संख्या बढ़ती चली जा रही है। वहीं बात उत्तर प्रदेश की करें तो यहां भी आंकड़ा 50 के पार पंहुच चुका है। लॉक डाउन की वजह से रोजाना कमाकर खाने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं कहीं कहीं राशन मिलने में भी दिक्कते आ रही हैं। ऐसे में सरकार ने राशन मुहैया करवाने के लिए कई कदम उठाये हैं। साथ ही केन्द्र सरकार के आदेश पर दूरदर्शन चैनल पर आज से रामायण शुरू करवाई गयी है। इसी पर तंज कसते हुए सपा नेता आईपी सिंह ने पूछा है कि राशन चाहिए या टीवी पर रामायण?

Corona Virus Sp Leaders Statement Needs Ration Or Ramayana On Tv :

बता दें कि सपा नेता आईपी सिंह अक्सर अपने बयानो की वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। आईपी सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘राशन चाहिए या टीवी पर रामायण? 10 पैकेट पूड़ी बांटने वाले विश्व की सबसे बड़ी तथाकथित पार्टी के महाबली, यशस्वी, योद्धा, परमपूज्य और न जाने क्या- क्या। ये सब किस बिल में छिपे हैं मित्रों ? बिल से बाहर आना चाहिए की नहीं आना चाहिए। आना चाहिए की नहीं आना चाहिए। आना चाहिए की…बताइये ।

इससे पहले उन्होने लिखा था, वेटिकन सिटी वाले खाकी नेकर पहनकर कही 10 पैकेट पूड़ी का पैकेट बांट दिए फिर वही नागपुरिया नेकर वाली 4 फोटो मीडिया, सोशल मीडिया, टीवी पर सब जगह दिखाई जाएगी। यकीन न हो तो आप सब स्वयं चेक कर लेना। इसके अन्त में उन्होने लिखा कुछ_तो_शर्म_करो।

आईपी सिंह ने ट्वीट करते हुए योगी सरकार पर हमला किया, उन्होने लिखा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी रही। मुंगेरी लाल के हसीन सपने ध्वस्त, सीएम के सारे दावे फेल, हजारों की संख्या में दिहाड़ी मजदूर पैदल ही अपने गांव को निकल पड़े इन्हें संभालना नामुमकिन है। इनका न रहने का ठिकाना न कुछ खाने को आखिर बेचारे जाय तो जाय कहाँ ?

उन्होने सरकार को सुझाव देते हुए कहा, देशभर में गरीब मजदूरों को उनके घर पहुँचाने के लिए छोटे जहाज लगाये जाय। जिससे गरीब मजदूर अपने अपने राज्यों में पहुँच सकें। यदि मुट्ठीभर लोगों ने स्व0 सुषमा स्वराज से अपील किया तो उन्हें जहाज भेजकर विदेश से लाया जाता रहा है। इसलिए गरीबों को प्रधानमंत्री मोदी जी घर पहुँचाये।

लखनऊ। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में 21 दिनो का लॉक डाउन है। देश में लगातार कोरोना से संक्रमित मरीजो की संख्या बढ़ती चली जा रही है। वहीं बात उत्तर प्रदेश की करें तो यहां भी आंकड़ा 50 के पार पंहुच चुका है। लॉक डाउन की वजह से रोजाना कमाकर खाने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं कहीं कहीं राशन मिलने में भी दिक्कते आ रही हैं। ऐसे में सरकार ने राशन मुहैया करवाने के लिए कई कदम उठाये हैं। साथ ही केन्द्र सरकार के आदेश पर दूरदर्शन चैनल पर आज से रामायण शुरू करवाई गयी है। इसी पर तंज कसते हुए सपा नेता आईपी सिंह ने पूछा है कि राशन चाहिए या टीवी पर रामायण? बता दें कि सपा नेता आईपी सिंह अक्सर अपने बयानो की वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। आईपी सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'राशन चाहिए या टीवी पर रामायण? 10 पैकेट पूड़ी बांटने वाले विश्व की सबसे बड़ी तथाकथित पार्टी के महाबली, यशस्वी, योद्धा, परमपूज्य और न जाने क्या- क्या। ये सब किस बिल में छिपे हैं मित्रों ? बिल से बाहर आना चाहिए की नहीं आना चाहिए। आना चाहिए की नहीं आना चाहिए। आना चाहिए की...बताइये । इससे पहले उन्होने लिखा था, वेटिकन सिटी वाले खाकी नेकर पहनकर कही 10 पैकेट पूड़ी का पैकेट बांट दिए फिर वही नागपुरिया नेकर वाली 4 फोटो मीडिया, सोशल मीडिया, टीवी पर सब जगह दिखाई जाएगी। यकीन न हो तो आप सब स्वयं चेक कर लेना। इसके अन्त में उन्होने लिखा कुछ_तो_शर्म_करो। आईपी सिंह ने ट्वीट करते हुए योगी सरकार पर हमला किया, उन्होने लिखा, 'उत्तर प्रदेश सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी रही। मुंगेरी लाल के हसीन सपने ध्वस्त, सीएम के सारे दावे फेल, हजारों की संख्या में दिहाड़ी मजदूर पैदल ही अपने गांव को निकल पड़े इन्हें संभालना नामुमकिन है। इनका न रहने का ठिकाना न कुछ खाने को आखिर बेचारे जाय तो जाय कहाँ ? उन्होने सरकार को सुझाव देते हुए कहा, देशभर में गरीब मजदूरों को उनके घर पहुँचाने के लिए छोटे जहाज लगाये जाय। जिससे गरीब मजदूर अपने अपने राज्यों में पहुँच सकें। यदि मुट्ठीभर लोगों ने स्व0 सुषमा स्वराज से अपील किया तो उन्हें जहाज भेजकर विदेश से लाया जाता रहा है। इसलिए गरीबों को प्रधानमंत्री मोदी जी घर पहुँचाये।