1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. कोरोना वायरस: सोनौली बार्डर पर पहुंचे विशेष सचिव, जाना हाल

कोरोना वायरस: सोनौली बार्डर पर पहुंचे विशेष सचिव, जाना हाल

By Editor-Vijay Chaurasiya 
Updated Date

सोनौली। कोरोना को लेकर इंडो-नेपाल की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बरती जा रही सतर्कता का जायजा लेने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंध प्राधिकरण गृह मंत्रालय के विशेष सचिव डा. प्रदीप कुमार सोनौली पहुंचे।

सोनौली के इंडिया गेट और इमीग्रेशन कार्यालय के बगल में बने कोरोना हेल्थ हेल्प डेस्क का जायजा लिया। जांच के तौर-तरीकों को देखा। केन्द्र सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुपालन की स्थिति से वाकिफ हुए। फिर अफसरों संग बैठक कर कोरोना से निपटने के उपायों पर चर्चा की। बैठक में सीमाई इलाके के प्रधान भी मौजूद रहे।

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए विदेशी पर्यटकों की जांच के लिए गाइड लाइन है। हालांकि अब विदेशी पर्यटकों की आवाजाही रोक दी गई है, लेकिन इस सीमा से नेपाल के नागरिक आ-जा रहे हैं। शुक्रवार को सोनौली पहुंचे विशेष सचिव डा. प्रदीप कुमार ने पहले इंडिया गेट के स्वास्थ्य शिविर कैंप का निरीक्षण किया।

यहां एक डाक्टर स्टाफ के साथ नेपाल से पैदल आने-जाने वालों की स्क्रीनिंग कर रहे थे। जांच को लेकर एहतियात बरतने का निर्देश देने के बाद वे इमीग्रेशन कार्यालय के बगल में स्थित उस जांच डेस्क का निरीक्षण किया, जहां विदेशी पर्यटकों की जांच पिछले दो फरवरी से की जा रही है।

हेल्थ हेल्प डेस्क का निरीक्षण करने के बाद डा. प्रदीप कुमार ने एसडीएम नौतनवा जसधीर सिंह,सीओ नौतनवा राजू कुमार शाव, सीएमओ डा. एके श्रीवास्तव, ईओ सोनौली राजनाथ यादव व तहसील नौतनवा आदि अफसरों के साथ एक होटल में बैठक की। बैठक में कोरोना को लेकर किए गए इंतजाम, पर्यटकों की स्क्रीनिंग डाटा, आपातकाल के लिए व्यवस्था और संसाधनों की समीक्षा की।

बचाव के उपायों पर विस्तार से चर्चा की। सीमाई इलाकों से आए प्रधानों से स्वास्थ्य विभाग से मिलकर इस आपदा से निपटने के उपाय करने को कहा। प्रधानों से इसके लिए सहयोग मांगा। बैठक में राजू दुबे,कृष्ण कुमार, जयराम सिंह, शैलेन्द्र पांडेय, रामशंकर तिवारी, संजय मद्धेशिया, जय किशन सहित तमाम प्रधान मौजूद रहे।

गाइड लाइन के अनुपालन की स्थिति देखी : डा. प्रदीप

विशेष सचिव डा. प्रदीप कुमार ने कहा कि कोरोना को लेकर गाइड लाइन जारी हुई है। इस गाइड लाइन का अनुपालन अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बेहद जरूरी है। इसकी समीक्षा करने ही वे सोनौली आए। बचाव के उपायों पर जिम्मेदारों संग विस्तार से चर्चा हुई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...