स्मार्टफोन से तेजी से फैलता है कोरोना वायरस, जानिए बचाव के उपाय

virus
स्मार्टफोन से तेजी से फैलता है कोरोना वायरस, जानिए बचाव के उपाय

नई दिल्ली। हाल ही में कोरोना वायरस नाम की महामारी चीन से शुरू होकर पूरे विश्व में फ़ैल रही है। कोरोना वायरस से भारत में अब तक 15 पर्यटकों समेत 18 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो गई है। वहीं, चीन, ईरान और साउथ कोरिया में कोरोना वायरस से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, मेडिकल साइंटिस्ट ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस किन-किन जगहों से लोगों में फैल सकता है।

Corona Virus Spreads Rapidly From Smartphone Know Prevention Measures :

स्मार्टफोन की स्क्रीन से फ़ैल सकता है वायरस:

रिपोर्ट के मुताबिक, इंग्लैंड के यूनिवर्सिटी ऑफ साउथैंपटन के प्रोफेसर विलियम कीविल ने कहा है- अगर आप अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन को टच करते हैं तो अपने चेहरे को छूने से पहले हाथों को अच्छे से धो लें। अल्कोहल वाइप्स से स्मार्टफोन को साफ करके वायरस को खत्म किया जा सकता है। वहीं, वायरस से बचने के लिए लोगों से सैनिटाइजर से हाथों को अच्छे से साफ करने की सलाह दी जा रही है।

मेडिकल साइंटिस्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस निर्जीव सतह पर करीब एक हफ्ते तक जिंदा रह सकता है। इंसान के शरीर से कफ या छींक के रूप में यह वायरस बाहर आता है। वायरस के संक्रमण का सबसे अधिक खतरा संक्रमित इंसान के सीधे संपर्क में आने पर ही है।

अमेरिका के सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के डायरेक्टर ने कहा है कि कॉपर और स्टील की सतह पर कोरोना वायरस 2 घंटे तक रह सकता है जबकि कार्डबोर्ड और प्लास्टिक पर लंबे वक्त तक वायरस जीवित रह सकता है। वहीं, जर्नल ऑफ हॉस्पिटल इंफेक्शन ने 22 स्टडीज के विश्लेषण के आधार पर कहा कि कोरोना वायरस इंसानी शरीर के बाहर 9 दिनों तक जिंदा रह सकता है।

नई दिल्ली। हाल ही में कोरोना वायरस नाम की महामारी चीन से शुरू होकर पूरे विश्व में फ़ैल रही है। कोरोना वायरस से भारत में अब तक 15 पर्यटकों समेत 18 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो गई है। वहीं, चीन, ईरान और साउथ कोरिया में कोरोना वायरस से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, मेडिकल साइंटिस्ट ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस किन-किन जगहों से लोगों में फैल सकता है। स्मार्टफोन की स्क्रीन से फ़ैल सकता है वायरस: रिपोर्ट के मुताबिक, इंग्लैंड के यूनिवर्सिटी ऑफ साउथैंपटन के प्रोफेसर विलियम कीविल ने कहा है- अगर आप अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन को टच करते हैं तो अपने चेहरे को छूने से पहले हाथों को अच्छे से धो लें। अल्कोहल वाइप्स से स्मार्टफोन को साफ करके वायरस को खत्म किया जा सकता है। वहीं, वायरस से बचने के लिए लोगों से सैनिटाइजर से हाथों को अच्छे से साफ करने की सलाह दी जा रही है। मेडिकल साइंटिस्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस निर्जीव सतह पर करीब एक हफ्ते तक जिंदा रह सकता है। इंसान के शरीर से कफ या छींक के रूप में यह वायरस बाहर आता है। वायरस के संक्रमण का सबसे अधिक खतरा संक्रमित इंसान के सीधे संपर्क में आने पर ही है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के डायरेक्टर ने कहा है कि कॉपर और स्टील की सतह पर कोरोना वायरस 2 घंटे तक रह सकता है जबकि कार्डबोर्ड और प्लास्टिक पर लंबे वक्त तक वायरस जीवित रह सकता है। वहीं, जर्नल ऑफ हॉस्पिटल इंफेक्शन ने 22 स्टडीज के विश्लेषण के आधार पर कहा कि कोरोना वायरस इंसानी शरीर के बाहर 9 दिनों तक जिंदा रह सकता है।