कोरोना का कहर, कद्दू और बैगन भी है मुर्गे से सस्ता, मीट व्यापारी परेशान

murga
कोरोना का कहर, कद्दू और बैगन भी है मुर्गे से सस्ता, मीट व्यापारी परेशान

लखनऊ। कोरोना वायरस की दहशत से आजकल देश में मीट कारोबारियों का व्यापार ठप्प सा पड़ गया है। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में आलम ये है कि कद्दू और बैंगन भी मुर्गे से सस्ता बिक रहा है। कोरोना वायरस ने मुर्गे के कारोबार को बहुत तगड़ी चोट पहुंचाई है। आजकल लोग मांसाहार खाने से बच रहे हैं जिसकी वजह से मुर्गे का और मीट का दाम लगातार गिरता जा रहा है। इस वजह से पोल्ट्री फॉर्म संचालकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

Coronas Havoc Pumpkin And Brinjal Are Also Cheaper Than Chicken Meat Traders Upset :

हालांकि अभी तक मांसाहार खाने से कोरना वायरस फैलने की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है लेकिन लगातार सोशल मीडिय पर अफवाहों का दौर जारी है, इसलिए लोग नॉनवेज खाने से परहेज करने लगे हैं। इसके कारण शुक्रवार को मुर्गे का थोक रेट 24-25 रुपये प्रति किलो पर आ गया। व्यापारियों के द्वारा बताया 30 रुपये का चूजा खरीदा गया था लेकिन अब तैयार होने के बाद 24 से 25 रुपये में बिक रहा है।

कोरोना वायरस के कहर से प्रशासन ने सड़कों पर खुले में मीट, मछली व फलों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कहीं कहीं अब एफडीए के अधिकारियों द्वारा खुले में बेचे जा रहे कटे फल, मीट, मुर्गा, मछली आदि पर छापेमारी की जा रही है। लखनऊ में भी डीएम ने ऐसे ही सख्त आदेश दिये हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

लखनऊ। कोरोना वायरस की दहशत से आजकल देश में मीट कारोबारियों का व्यापार ठप्प सा पड़ गया है। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में आलम ये है कि कद्दू और बैंगन भी मुर्गे से सस्ता बिक रहा है। कोरोना वायरस ने मुर्गे के कारोबार को बहुत तगड़ी चोट पहुंचाई है। आजकल लोग मांसाहार खाने से बच रहे हैं जिसकी वजह से मुर्गे का और मीट का दाम लगातार गिरता जा रहा है। इस वजह से पोल्ट्री फॉर्म संचालकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। हालांकि अभी तक मांसाहार खाने से कोरना वायरस फैलने की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है लेकिन लगातार सोशल मीडिय पर अफवाहों का दौर जारी है, इसलिए लोग नॉनवेज खाने से परहेज करने लगे हैं। इसके कारण शुक्रवार को मुर्गे का थोक रेट 24-25 रुपये प्रति किलो पर आ गया। व्यापारियों के द्वारा बताया 30 रुपये का चूजा खरीदा गया था लेकिन अब तैयार होने के बाद 24 से 25 रुपये में बिक रहा है। कोरोना वायरस के कहर से प्रशासन ने सड़कों पर खुले में मीट, मछली व फलों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कहीं कहीं अब एफडीए के अधिकारियों द्वारा खुले में बेचे जा रहे कटे फल, मीट, मुर्गा, मछली आदि पर छापेमारी की जा रही है। लखनऊ में भी डीएम ने ऐसे ही सख्त आदेश दिये हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।