कोरोना का कहर: रिलायंस अपने कर्मचारियों को महीने में दो बार देगी सैलरी

reliance
कोरोना का कहर: रिलायंस अपने कर्मचारियों को महीने में दो बार देगी सैलरी

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में आतंक का पर्याय बन चुके कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे और पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। खराब स्थिति को देखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) अपने कर्मचारियों को महीने में दो बार करके सैलरी का भुगतान करेगी। रिलायंस ने कहा है कि कंपनी का जो भी कर्मचारी महीने में 30,000 से कम कमाता है उसे महीने में दो बार करके वेतन दिया जाएगा।

Coronas Havoc Reliance Will Pay Its Employees Twice A Month :

मुकेश अंबानी की अगुवाई में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एक बयान में कहा, ‘हर महीने 30,000 रुपये से कम कमाने वालों के लिए, उनके कैशफ्लो को बचाने और किसी भी भारी वित्तीय बोझ को कम करने के लिए महीने में दो बार वेतन का भुगतान किया जाएगा। रिलायंस इसलिए ऐसा कर रही है ताकि उसके कर्मचारियों को महीने के बीच में नकदी की दिक्कत न हो। उसका कैश फ्लो बना रहे और उसके पास किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए पैसे रहें।

बता दें कि हाल ही में रिलायंस ने कहा था कि लॉकडाउन की वजह से जो अनुबंध और अस्थायी कर्मचारी काम पर नहीं जा पा रहे हैं कंपनी उनके वेतन का भुगतान करना जारी रखेगी। रिलायंस जियो नेटवर्क को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों को छोड़कर, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपने अधिकांश कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम का विकल्प दिया है। कोरोना के पॉजिटिव मरीजों के लिए रिलायंस फाउंडेशन अस्प्ताल ने 100 बेड वाला एक अस्पताल तैयार किया है। इसके अलावा कंपनी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपये का दान भी दिया है।

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में आतंक का पर्याय बन चुके कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे और पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। खराब स्थिति को देखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) अपने कर्मचारियों को महीने में दो बार करके सैलरी का भुगतान करेगी। रिलायंस ने कहा है कि कंपनी का जो भी कर्मचारी महीने में 30,000 से कम कमाता है उसे महीने में दो बार करके वेतन दिया जाएगा। मुकेश अंबानी की अगुवाई में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एक बयान में कहा, 'हर महीने 30,000 रुपये से कम कमाने वालों के लिए, उनके कैशफ्लो को बचाने और किसी भी भारी वित्तीय बोझ को कम करने के लिए महीने में दो बार वेतन का भुगतान किया जाएगा। रिलायंस इसलिए ऐसा कर रही है ताकि उसके कर्मचारियों को महीने के बीच में नकदी की दिक्कत न हो। उसका कैश फ्लो बना रहे और उसके पास किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए पैसे रहें। बता दें कि हाल ही में रिलायंस ने कहा था कि लॉकडाउन की वजह से जो अनुबंध और अस्थायी कर्मचारी काम पर नहीं जा पा रहे हैं कंपनी उनके वेतन का भुगतान करना जारी रखेगी। रिलायंस जियो नेटवर्क को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों को छोड़कर, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपने अधिकांश कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम का विकल्प दिया है। कोरोना के पॉजिटिव मरीजों के लिए रिलायंस फाउंडेशन अस्प्ताल ने 100 बेड वाला एक अस्पताल तैयार किया है। इसके अलावा कंपनी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपये का दान भी दिया है।