1. हिन्दी समाचार
  2. ब्राजील के राष्‍ट्रपति बोले, हनुमान की तरह संजीवनी देने के लिए भारत का शुक्रिया

ब्राजील के राष्‍ट्रपति बोले, हनुमान की तरह संजीवनी देने के लिए भारत का शुक्रिया

Coronavirus Brazil President Jair Bolsonaro Letter To Pm Narendra Modi Ramayana Hanuman

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहे ब्राजील ने हनुमान जंयती पर इस महामारी के लिए ‘गेमचेंजर’ बताई जा रही दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को ‘संजीवनी बूटी’ करार दिया है।

पढ़ें :- IND VS AUS: सुंदर और शार्दुल का शानदार अर्धशतक, ऑस्ट्रेलिया को बड़ी बढत से रोका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बाद अब ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) ने कोरोना संक्रमितों के इलाज में मददगार साबित हो रही मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया है। इससे पहले अमेरिकी राष्‍टपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सप्‍लाइ के लिए पीएम मोदी को महान नेता बताया था। ‘

ब्राजील राष्ट्रपति ने चिट्ठी में लिखा है- संकट की इस घड़ी में भारत द्वारा की गई ब्राजील की मदद ठीक वैसी ही है जैसा रामायण में हनुमान जी ने राम के भाई लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी लाकर किया था। ब्राजील ने उस वक्त ये बात कही जब पूरे देश में हनुमान जयंती का त्योहार मनाया जा रहा है।

इससे पहले अमेरिकी राष्टपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए उन्हें महान बताया। बता दें मंगलवार को ही सरकार ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर आंशिक तौर पर प्रतिबंध हटाया है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार सरकार ने मानवीय आधार पर यह फैसला लिया है। ये दवाएं उन देशों को भेजी जाएंगी जिन्हें भारत से मदद की आस है। हालांकि घरेलू जरुरतें पूरी होने के बाद स्टॉक की उपलब्धता के आधार पर निर्यात किया जाएगा।

पढ़ें :- नेहा कक्कड़ ने रोहनप्रीत के सामने गाया कलंक नहीं इश्क है ये बादल पिया, देखें VIDEO

महामारी बनकर उभरा कोरोना वायरस दुनिया के कई देशों में तेजी से फैल रहा है। अमेरिका, इटली, स्पेन जैसे विकसित देश भी इस महामारी से बेबस नजर आ रहे हैं। ऐसे में तमाम बड़े देशों की नजर भारत पर टिकी हुई है।

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन भारत में मलेरिया के इलाज की दवा है। भारत में मलेरिया के मामले हर साल बड़ी संख्या में आते हैं और यही वजह है कि भारत इसका सबसे बड़ा उत्पादक है। ये दवा कोरोना महामारी से निपटने के लिए एंटी-वायरल के रूप में इस्तेमाल हो रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...