WHO ने भारत की तारीफ़ करते हुए कही ये बात, बताया कैसे रोक सकते हैं कोरोना वायरस का संक्रमण

WHO ने भारत की तारीफ़ करते हुए कही ये बात, बताया कैसे रोक सकते हैं कोरोना वायरस का संक्रमण
WHO ने भारत की तारीफ़ करते हुए कही ये बात, बताया कैसे रोक सकते हैं कोरोना वायरस का संक्रमण

नई दिल्ली। भारत में भी अब कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। वहीं, इस वायरस का प्रसार रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम को 21 दिनों के ऐतिहासिक राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा कर दी। उनके इस फैसले कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने तारीफ करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में भारत ने एक बेहद महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

Coronavirus In India Who Praised India Said Lockdown Is A Very Important Decision :

इस फैसले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि कोरोना के दूसरे स्टेज पर होने पर ही भारत तमाम तरह के ऐतिहात बरत रहा है। वायरस के गंभीर होने से पहले इसे दबाने और नियंत्रित करने में यह कदम मदद करेगा। WHO ने यह भी कहा कि यह प्रयास बेहद सराहनीय हैं, लेकिन इस महामारी को रोकने के लिए अतिरिक्त आवश्यक उपायों की भी जरूरत पड़ेगी, वरना ये फिर से लौट सकता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी निदेशक मिशेल जे रेयान ने कहा कि आवश्यक उपायों, जरूरी सुरक्षाओं को लागू किए बिना, देश का इससे निकलना कठिन हो जाता है। अगर फिर से यह वापस आता है तो यह भारत के सामने एक बड़ी चुनौती होगी।

जैसे पोलियो को हराया वैसे ही इसे भी हरा देगा भारत

डॉक्टर रेयान ने कहा कि भारत के पास बेहतरीन क्षमता है इसने पोलियो को हारने के लिए हर वह कदम उठाया जिसकी ज़रूरत इस बीमारी से निपटने के लिए थी। मामलों की पड़ताल की और टीकाकरण शुरू किया, दुनिया को दिखाया है कि क्या किया जा सकता है।

नई दिल्ली। भारत में भी अब कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। वहीं, इस वायरस का प्रसार रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम को 21 दिनों के ऐतिहासिक राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा कर दी। उनके इस फैसले कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने तारीफ करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में भारत ने एक बेहद महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इस फैसले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि कोरोना के दूसरे स्टेज पर होने पर ही भारत तमाम तरह के ऐतिहात बरत रहा है। वायरस के गंभीर होने से पहले इसे दबाने और नियंत्रित करने में यह कदम मदद करेगा। WHO ने यह भी कहा कि यह प्रयास बेहद सराहनीय हैं, लेकिन इस महामारी को रोकने के लिए अतिरिक्त आवश्यक उपायों की भी जरूरत पड़ेगी, वरना ये फिर से लौट सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी निदेशक मिशेल जे रेयान ने कहा कि आवश्यक उपायों, जरूरी सुरक्षाओं को लागू किए बिना, देश का इससे निकलना कठिन हो जाता है। अगर फिर से यह वापस आता है तो यह भारत के सामने एक बड़ी चुनौती होगी। जैसे पोलियो को हराया वैसे ही इसे भी हरा देगा भारत डॉक्टर रेयान ने कहा कि भारत के पास बेहतरीन क्षमता है इसने पोलियो को हारने के लिए हर वह कदम उठाया जिसकी ज़रूरत इस बीमारी से निपटने के लिए थी। मामलों की पड़ताल की और टीकाकरण शुरू किया, दुनिया को दिखाया है कि क्या किया जा सकता है।