कोरोना : भारत में संक्रमण के 873 मामले, 20 लोगों की मौत

corona
कोरोना अपडेट: दुनिया भर में 32 लाख से ज़्यादा लोग संक्रमित, भारत में 33 हजार के पार

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। वहीं हर दिन COVID-19 संक्रमितों की संख्या में भी इजाफा होता जा रहा है। देश में अब तक करीब 873 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है । अभी तक देश में कोरोना की वजह से 20 लोगों की मौत हो चुकी है।  

Coronavirus Outbreak Death Toll Covid 20 India Lockdown Migrant Worker :

जानकारी के मुताबिक अब तक 79 लोग इस बीमारी से ठीक हो गए हैं। जानकारों के मुताबिक अगर कोरोना वायरस गर्मी से कम फैलेगा तो अप्रैल का महीना भारत के लिए अच्छा होने की संभावना जताई जा रही है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है।  

केंद्र सरकार और राज्य सरकारें कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश में जुटी हुई हैं। हालांकि पलायन कर दूसरे राज्यों में पहुंचने वाले दिहाड़ी मजदूरों ने उनकी परेशानी बढ़ा दी है। लॉकडाउन की वजह से उन्हें काम नहीं मिल रहा है इसलिए वो अपने गृह राज्य लौट रहे हैं।

राज्य सरकार की मुश्किल यह है कि अगर वो लौटे और कोरोना पॉजिटिव हुए तो आसपास के लोगों को भी संक्रमित करेंगे। इतना ही नहीं, इस दौरान बीच में जिन राज्यों से पैदल यात्रा करते हुए वो आए हैं वहां के लोगों में भी संक्रमण फैलाते हुए आए होंगे। ऐसे में यह संख्या आने वाले दिनों में डराने वाले भी हो सकते हैं।

जाहिर है अब तक इस बीमारी पर रोक लगाने के लिए कोई भी देश दवाई नहीं बना पाया है। लेकिन वैज्ञानिकों की कोशिशें जारी हैं। इटली, स्पेन, अमेरिका और फ्रांस में इस बीमारी ने गंभीर रूप ले लिया है। इटली में तो मौत का आंकड़ा 9 हजार को पार कर गया है। शुक्रवार को वहां 1 हजार लोगों की मौत हो गई। वहीं अमेरिका में अब सबसे ज्यादा कोरोना मरीज हैं। लेकिन इटली की तुलना में वहां मृत्यु दर कम है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। वहीं हर दिन COVID-19 संक्रमितों की संख्या में भी इजाफा होता जा रहा है। देश में अब तक करीब 873 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है । अभी तक देश में कोरोना की वजह से 20 लोगों की मौत हो चुकी है।   जानकारी के मुताबिक अब तक 79 लोग इस बीमारी से ठीक हो गए हैं। जानकारों के मुताबिक अगर कोरोना वायरस गर्मी से कम फैलेगा तो अप्रैल का महीना भारत के लिए अच्छा होने की संभावना जताई जा रही है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है।   केंद्र सरकार और राज्य सरकारें कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश में जुटी हुई हैं। हालांकि पलायन कर दूसरे राज्यों में पहुंचने वाले दिहाड़ी मजदूरों ने उनकी परेशानी बढ़ा दी है। लॉकडाउन की वजह से उन्हें काम नहीं मिल रहा है इसलिए वो अपने गृह राज्य लौट रहे हैं। राज्य सरकार की मुश्किल यह है कि अगर वो लौटे और कोरोना पॉजिटिव हुए तो आसपास के लोगों को भी संक्रमित करेंगे। इतना ही नहीं, इस दौरान बीच में जिन राज्यों से पैदल यात्रा करते हुए वो आए हैं वहां के लोगों में भी संक्रमण फैलाते हुए आए होंगे। ऐसे में यह संख्या आने वाले दिनों में डराने वाले भी हो सकते हैं। जाहिर है अब तक इस बीमारी पर रोक लगाने के लिए कोई भी देश दवाई नहीं बना पाया है। लेकिन वैज्ञानिकों की कोशिशें जारी हैं। इटली, स्पेन, अमेरिका और फ्रांस में इस बीमारी ने गंभीर रूप ले लिया है। इटली में तो मौत का आंकड़ा 9 हजार को पार कर गया है। शुक्रवार को वहां 1 हजार लोगों की मौत हो गई। वहीं अमेरिका में अब सबसे ज्यादा कोरोना मरीज हैं। लेकिन इटली की तुलना में वहां मृत्यु दर कम है।